NCR समेत 7 शहरों में 78 हजार घर बनकर तैयार, ज्यादा छूट देकर फ्लैट बेचने की तैयारी में छोटे बिल्डर 

News Desk

नई दिल्ली 
कोरोना के दौरान देश में बड़े पैमाने पर तैयार (रेडी टु मूव) घर तैयार हो गए हैं। मार्च 2020 तक के आंकड़ों के मुताबिक देश के सात बड़े शहरों में करीब 78,000 घर बनकर बिकने के लिए तैयार हैं। इन घरों पर कई बिल्डर अच्छा खासा डिस्काउंट देने को भी तैयार हैं।

कुल कीमत 65,950 करोड़

प्रॉपर्टी से जुड़ी एनरॉक रिसर्च फर्म के आंकड़ों के मुताबिक लॉकडाउन के दौरान प्रॉपर्टी के बारे में पूछताछ भी पहले के मुकाबले बढ़ी है। रिसर्च में बताया गया है कि देश के सात बड़े शहरों में कुल 6.44 लाख यूनिटें बिना बिकी हैं। इनमें से 12 फीसदी यानि करीब 78000 हजार बनकर बिकने के लिए तैयार हो गई हैं। इनकी कुल कीमत 65,950 करोड़ आंकी जा रही है।
 
एनरॉक प्रॉपर्टी कंसल्टेंट्स के चेयरमैन अनुज पुरी के मुताबिक कुल प्रॉपर्टी में 35,200 घर सिर्फ मुंबई महाराष्ट्र क्षेत्र में बने हैं। इसके बाद राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 15,600 घर बनकर तैयार हो गए हैं। इन घरों की कीमत 10,720 करोड़ आंकी जा रही है। बेंगलुरु में अभी 10 हजार घर और चेन्नई में 9,400 घर बनकर बिकने के लिए तैयार हैं। कोलकाता में 5,300 और हैदराबाद में 2,400 घर खरीदारों का इंतजार कर रहे हैं।

अच्छा खासा डिस्काउंट पर नहीं मिल रहे खरीददार

कंपनी की तरफ से ये भी बताया गया है कि तमाम बिल्डर अपने प्रोजेक्ट के लिए अच्छा खासा डिस्काउंट तक देने के लिए तैयार हैं। हालांकि, आर्थिक तौर पर मजबूत बिल्डरों को अभी बड़े डिस्काउंट और मोलभाव के लिए तैयार नहीं दिख रहे हैं। मौजूदा आर्थिक हालात में भले ही लोगों को घर खरीदने के लिए सस्ता कर्ज मिल रहा हो, लेकिन कोरोना महामारी के चलते नौकरियों और वेतन पर आए संकट से घर खरीदना लोगों की प्राथमिकता में फिलहाल नीचे ही है।

Next Post

कोरोना नियंत्रण के लिये उज्जैन को मिले 28 नए डॉक्टर

भोपाल  कोरोना संक्रमण के प्रबंधन और उपचार के लिये उज्जैन में 28 डॉक्टर पदस्थ किये गये हैं। संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएँ द्वारा प्रदेश के विभिन्न जिलों में पदस्थ 28 डॉक्टरों को अपनी सेवाएं उज्जैन में देने के निर्देश जारी किये गये हैं। म.प्र. अत्यावश्यक सेवा संधारण एवं विच्छिन्न्ता निवारण अधिनियम-1979 (एस्मा) […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।