Bihar Election 2020: पहले चरण में 1357 ने दाखिल किया पर्चा, 28 को मतदान

News Desk

पटना 
पहले चरण में होने वाले 71 विधानसभा क्षेत्रों के लिए कुल 1357 प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किया है। राज्य निर्वाचन विभाग की विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई है। वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव में पहले चरण के चुनाव में 583 उम्मीदवारों ने ही नामांकन किया था। हालांकि तब पहले चरण में मात्र 49 विधानसभा क्षेत्रों में ही चुनाव हुआ था। कोविड को देखते हुए ऑनलाइन नामांकन पत्र दाखिल करने की भी सुविधा दी गई है। पहले चरण में दस उम्मीदवारों ने इस सुविधा का लाभ लिया। 

दूसरे चरण के लिए कुल दो नामांकन 
वहीं, दूसरे चरण के लिए कुल दो नामांकन दाखिल किए गए। इनमें एक मनेर जबिक दूसरा दानापुर से हुआ। वहीं आचार संहिता लगने के बाद अब तक 21 हजार 16 पोस्टर बैनर सरकारी संपत्ति और तीन हजार 326 निजी संपत्ति से हटाये गये। इसके अलावा वोटरों को अनुचित लाभ पहुंचाने के तीन, अवैध बैठक के 30 और लाउडस्पीकर अधिनियम के तहत 23 सहित कुल 146 मामले दर्ज किये गये है। आयोग ने बताया है कि अब तक एक हजार पांच अवैध शस्त्र जब्त किये गये। 1772 लाइसेंस रद किये गये। 59 हजार 822 लाइसेंस सत्यापित किये गये। शरारती तत्वों के खिलाफ कार्रवाई भी बडे पैमाने पर हुई है।  

दूसरा चरण : पहले दिन 3 प्रत्याशियों ने किया नामांकन  
दूसरे चरण के नामांकन के पहले दिन शुक्रवार को 3 प्रत्याशियों ने नामांकन पर्चा दाखिल किया। मनेर, दानापुर और बांकीपुर में एक-एक नामांकन हुआ, जबकि पांच अन्य क्षेत्र के लिए किसी प्रत्याशी ने पर्चा भरा। सुबह से ही पटना कलेक्ट्रेट में मजिस्ट्रेट एवं पुलिस पदाधिकारियों की तैनाती कर दी गई थी। 

बांकीपुर विस के लिए सदर डीसीएलआर के कार्यालय में नामांकन की व्यवस्था की गई है। निर्दलीय प्रत्याशी प्रभाष चंद्र शर्मा नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए दिन में 1:30 बजे पहुंचे हुए थे। डीएम के निर्देशानुसार बैरिर्केंडग के पास तैनात मजिस्ट्रेट ने प्रत्याशी एवं उनके 2 समर्थकों को ही अंदर जाने की इजाजत दी। बाकी उनके समर्थक कारगिल चौक के आसपास खड़े रहे। इधर, कलेक्ट्रेट परिसर में नामांकन को देखते हुए सदर एसडीओ की ओर से धारा 144 लागू कर दी गई है। 

नामांकन के पहले दिन कलेक्ट्रेट परिसर में कोई विशेष चहल-पहल नहीं रही। ज्यादातर अधिकारी प्रत्याशियों के आने की प्रतीक्षा करते रहे। बख्तियारपुर, पटना साहिब, दीघा, कुम्हरार और फतुहा विधानसभा क्षेत्र के लिए किसी भी प्रत्याशी ने नामांकन नहीं किया। पटना साहिब और फतुहा विधानसभा क्षेत्र के लिए क्रमश: पटना सिटी एसडीओ और पटना डीसीएलआर कार्यालय में नामांकन लेने की व्यवस्था की गई थी, जबकि दीघा के लिए पटना सदर एसडीओ तथा कुम्हरार क्षेत्र के लिए छज्जूबाग विशिष्ट पदाधिकारी अनुभाजन के कार्यालय में नामांकन लेने की व्यवस्था की गई है। 

Next Post

शिक्षकों का ऑनलाईन

भोपाल स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा भारत शासन की संशोधित गाइडलाइन के अनुसार कक्षा एक से 8वीं तक के समस्त शिक्षकों का एनसीईआरटी द्वारा निर्धारित माड्यूल पर निष्ठा ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम 16 अक्टूबर से प्रारंभ किया जा रहा है। इसके लिये शिक्षकों को दीक्षा पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा। शिक्षकों को […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।