योगी सरकार ने 12 जिलों में पटाखों के लाइसेंस स्थगित किए

News Desk

 लखनऊ                                    
उत्तर प्रदेश सरकार ने 12 जिलों में पटाखों की बिक्री के संबंध में पूर्व में जारी लाइसेंस स्थगित कर दिए हैं। राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) के आदेश के अनुपालन में इन जिलों में पटाखों की बिक्री और उसके इस्तेमाल पर पहले ही प्रतिबंध लगाया जा चुका है।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है। पटाखों की बिक्री और उसके इस्तेमाल पर प्रतिबंध का आदेश मुख्य सचिव आरके तिवारी की तरफ से जारी किया गया था। जिन जिलों में पूर्व में जारी आतिशबाजी (फायर क्रेकर्स) के लाइसेंस स्थगित किए गए हैं उनमें मुजफ्फरनगर, आगरा, वाराणसी, मेरठ, हापुड़, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, बुलंदशहर, कानपुर, लखनऊ, मुरादाबाद और बागपत शामिल है। हवा की गुणवत्ता के सूचकांक (एक्यूआई) के आधार पर इन जिलों को एनजीटी ने अपने आदेश में अलग-अलग श्रेणियों में रखा है।

एक्यूआई के हिसाब से मुजफ्फरनगर को खराब, आगरा, वाराणसी, मेरठ व हापुड़ को बहुत खराब तथा गाजियाबाद, कानपुर, लखनऊ, मुरादाबाद, गौतमबुद्धनगर (नोएडा व ग्रेटर नोएडा), बागपत व बुलंदशहर को गंभीर की श्रेणी में रखा है। गंभीर श्रेणी के जिलों में एक्यूआई 401 से ज्यादा है, जबकि बहुत खराब श्रेणी के जिलों में 301 से 400 तक है। इसी तरह खराब श्रेणी के जिले में 201 से 300 है।

Next Post

मुख्यमंत्री चौहान द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री पटवा जी को नमन

 भोपाल   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज पूर्व मुख्यमंत्री स्व. सुंदरलाल पटवा की 96वीं जयंती पर उन्हें नमन किया। मुख्यमंत्री चौहान ने स्वामी दयानंद नगर स्थित सुरेंद्र पटवा के निवास जाकर पूर्व मुख्यमंत्री स्व. सुंदरलाल पटवा की तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित की। इस अवसर पर गायन मंडली ने धार्मिक […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।