यूपी के स्क्रब टाइफस की दस्तक, चूहों से फैलती है ये बीमारी, तीन मरीज भर्ती

News Desk

जालौन
जालौन जिले में नई बीमारी स्क्रब टाइफस की दस्तक की आशंका है। यह बीमारी चूहों से फैलती है। डेंगू की तरह इसमें तेज बुखार आता है, प्लेटलेट्स घटती हैं। ऐसे जिले में तीन मरीज आए हैं, जिनमें स्क्रब टाइफस की आशंका जताई जा रही है।

हालांकि उनकी जांच रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। उधर, स्वास्थ्य विभाग नई बीमारी को लेकर सतर्क हो गया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गांवों में पहुंचकर लोगों को जागरूक किया है। एक कोंच ब्लाक के असूपुरा गांव में तीन साल की मासूम, डकोर ब्लाक के औता गांव का युवक (26) और कुठौंद (55) के अधेड़ में इस बीमारी के लक्षण पाए गए हैं।

तीनों मेडिकल कालेज झांसी में भर्ती हैं और इनकी जांच चल रही है। जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. जीएस स्वर्णकार का कहना है कि तीनों मरीज स्वस्थ हैं। सीएमओ डॉ. एनडी शर्मा ने बताया कि यह चूहों से फैलने वाली बीमारी है।

इसके लिए कृषि विभाग व पंचायती राज विभाग को चूहों की रोकथाम के लिए अभियान चलाने के लिए पत्राचार किया जा रहा है। बीमारी को लेकर ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है। समय से किसी प्रशिक्षित डॉक्टर या सरकारी अस्पताल में जांच कराकर इलाज कराएं।

समय से इलाज होने पर यह बीमारी पूरी तरह ठीक हो सकती है, क्योंकि इसकी एंटीबायोटिक दवाएं उपलब्ध हैं। हालांकि जो मरीज मिले हैं, उनकी जांच रिपोर्ट आनी बाकी है। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि वे स्क्रब टाइफस के मरीज हो सकते हैं।

Next Post

जसप्रीत बुमराह ने लगाया 'शतक', ऐसा करने वाले 45वें खिलाड़ी बने

नई दिल्ली इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन का रोमांच एक बार फिर लौट आया है। यूएई लेग के पहले और टूर्नामेंट के 30वें मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स का सामना मुंबई इंडियंस से हो रहा है। यह मैच दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेला जा रहा है। चेन्नई सुपर […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।