पेट्रोल हुआ महंगा तो वकील ने SSP से मांगी घोड़े से चलने की इजाजत 

News Desk

 वाराणसी 
पेट्रोल की बढ़ती कीमत ने लोगों को परेशान कर दिया है। घर से दूर काम पर जाने वाले मध्यम वर्ग का बजट गड़बड़ा गया है। कुछ लोग इससे निबटने की जुगत में लगे हैं तो कुछ लोग अपने अपने तरीके से पेट्रोल की कीमतों का विरोध कर रहे हैं। वाराणसी के एक वकील ने पेट्रोल महंगा होने के कारण एसएसपी से घुड़सवारी की इजाजत मांगी है। उन्होंने एसएसपी को इस बारे में पत्र सौंपा है। पत्र में उन्होंने पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ने पर घोड़ा खरीदने की इच्छा व्यक्त की है। वकील के पत्र की कॉपी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। 

वकील ने पत्र में लिखा, एसएसपी साहब! रोजाना 20 किलोमीटर दूर से कचहरी आता हूं, इन दिनों पेट्रोल के दाम इतने बढ़ गए है कि अब घोड़ा खरीदना चाहता हूं, इसके पूर्व पुलिस लाइन में घुड़सवारी का प्रशिक्षण प्राप्त करने की अनुमति प्रदान करें। यह पत्र सिंधौरा थाना क्षेत्र के गरथना गांव निवासी वकील डॉ. हरिश्चंद्र मौर्या ने शनिवार को कुछ वकीलों के साथ यह पत्र एसएसपी अमित पाठक को सौंपा है।
 

वाराणसी में इस समय पेट्रोल की कीमत 89.66 रुपये है, जो अब तक का अधिकतम है। पिछले एक माह से लगातार पेट्रो मूल्य में वृद्धि हो रही है। वकील का कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री योगी का नारा है कि स्वदेशी अपनाएं, विदेशी भगाएं। इसी नारे को सफल बनाने के लिए पेट्रोल डीजल की कीमत बढ़ाई जा रही है। हम मोदी योगी की मंशा के अनुसार ही स्वदेशी अपनाते हुए धोड़ा खरीदना चाहते हैं। इससे पर्यावरण भी स्वच्छ रहेगा। मोदी का मेक इन इंडिया, आत्मनिर्भर का सपना भी पूरा होगा।

Next Post

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में समन्वय समिति गठित

 भोपाल राज्य शासन ने प्रदेश में रेलवे प्रकरणों एवं परियोजनाओं के क्रियान्वयन के संबंध में समन्वय स्थापित करने के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में समन्वय समिति का गठन किया है। अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव परिवहन समिति में सदस्य सचिव होंगे। समन्वय समिति में अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव  लोक निर्माण, […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।