गंगोत्री इंटरप्राइजेज पर सीबीआई का छापा

News Desk

    लखनऊ
  
1500 करोड़ के बैंक लोन घोटाले में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) की छापेमारी जारी है. गंगोत्री इंटरप्राइजेज के नोएडा,लखनऊ, गोरखपुर के ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है. कंपनी पर बैंक लोन हड़प करके दूसरी जगह निवेश करने का आरोप है. बताया जा रहा है कि गंगोत्री इंटरप्राइजेज, बसपा विधायक से जुड़ी कंपनी है.

सीबीआई सूत्रों का कहना है कि बीएसपी विधायक विनय शंकर तिवारी से जुड़ी कंपनी गंगोत्री इंटरप्राइजेज पर आज छापेमारी की जा रही है. बैंक ऑफ इंडिया की अगुवाई वाले बैंकों के संघ की शिकायत के आधार पर सीबीआई ने विनय शंकर तिवारी और गंगोत्री एंटरप्राइजेज के अन्य निदेशकों के खिला बैंकों को कथित रूप से धोखा देने के लिए मामला दर्ज किया है.

कौन हैं विनय शंकर तिवारी
बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी, पूर्वांचल के बाहुबली नेता हरिशंकर तिवारी के छोटे बेटे हैं. आरोप है कि इनकी कई कंपनियों ने राष्ट्रीय बैंकों से लोन लिया था. इसके बाद गंगोत्री इंटरप्राइजेज ने लोन की रकम को समय से वापस नहीं किया. बैंकों का आरोप है कि लोन की रकम को दूसरी जगह निवेश किया गया.

विनय शंकर तिवारी, फिलहाल गोरखपुर की चिल्लूपार सीट से विधायक हैं. इस सीट से विनय शंकर तिवारी के पिता और बाहुबली नेता हरिशंकर तिवारी 6 बार लगातार (1985 से लेकर 2002 तक) विधायक रहे हैं. हरिशंकर तिवारी के बड़े बेटे भीष्मशंकर तिवारी, खलीलाबाद लोकसभा सीट से सांसद रह चुके हैं

Next Post

सीएम शिवराज ने सोनिया गांधी से की कमलनाथ की शिकायत

भोपाल  मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों के लिए हो रहे उपचुनाव (MP Assembly By-Election) में नेताओं की तीखी बयानबाजी रोज सुर्खियां बन रही हैं. इसी क्रम में कांग्रेस नेता कमलनाथ (Kamalnath) का एक बयान इन दिनों चर्चा में है. ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) की समर्थक विधायक के रूप में […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।