कोरोना के चलते ताजमहल बंद, दीदार ना कर पाने पर रो पड़े विदेशी सैलानी

News Desk

 आगरा 
सात समंदर पार से दिलों में ताज दीदार की हसरत को लेकर मंगलवार को ताजनगरी पहुंचने वाले सैलानी ताज बंदी से बेहद मायूस नजर आए। इस दौरान ताजमहल का दीदार न कर पाने की कसक उनके दिलों में नजर आई तो वही आंखों से आंसू बनकर उन्होंने ताज दीदार ना कर पाने के गम का भी इजहार किया।

दुनिया भर में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए ताजमहल सहित देशभर के सभी स्मारकों और संग्रहालय को 31 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है। मंगलवार सुबह से ही ताज का दीदार को आने वाले सैलानियों का तांता लगा रहा। इस दौरान ताज बंदी की सूचना पाकर सैलानी बेहद मायूस नजर आए और उनके दिलों में ताजमहल का दीदार न कर पाने की कसक भी दिखाई दी। वहीं कुछ सैलानी तो इतने मायूस नजर आए कि उनकी आंखों से दर्द के आंसू बनकर छलकते दिखाई दिए।
 
इधर उधर से झांकते रहे
मंगलवार को सूर्योदय में ताजमहल का दीदार करने पहुंचे सैलानियों के दिलों में ताजमहल की हसरत अधूरी रह गई। इस दौरान कोई सैलानी तो ताजमहल के पीछे दशहरा घाट से इसको निहारता दिखाई दिया तो कोई ताजमहल के गेट के बाहर लगी जाली से ताजमहल को झांकता दिखाई दिया।

49 साल में तीसरी बार बंद
बीते 49 वर्षों में यह तीसरा मौका है जब ताज महल बंद किया गया है। इससे पहले 1971 में भारत-पाक युद्ध के दौरान ताजमहल करीब 15 दिन बंद रहा था 1978 की बाढ़ के दौरान ताजमहल 7 दिन बंद रहा था।

Next Post

घर बैठे कर सकते हैं वेबपोर्टल पर जन्म-मृत्यु का ऑनलाईन पंजीयन, पंजीयन की जानकारी मिलेगी ई-मेल तथा मोबाइल पर

रायपुर भारत के महा रजिस्टार कार्यालय नई दिल्ली के वेबपोर्टल ( www.crsorgi.gov.in) के माध्यम से जन्म-मृत्यु और मृत जन्म का ऑनलाईन पंजीयन जनसाधारण अपने घर बैठे कर सकते हैं। पंजीयन के बारे में सूचनाएं ई-मेल तथा मोबाइल पर प्राप्त किया जा सकता है। आर्थिक एवं सांख्यिकी संचालनालय नवा रायपुर से […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।