कोरोना के खिलाफ लड़ाई में खुद सीएम योगी आदित्यनाथ ने संभाली कमान

News Desk

 लखनऊ 
कोरोना से लड़ाई में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक-एक संवेदनशील स्थानों पर खुद नजर रख रहे हैं। चाहे संक्रमण रोकने की बात हो, गरीबों को राशन-राहत पहुंचाना हो या फिर आम लोगों को जरूरी सेवाओं और सुविधाओं की बात हो। सुबह अपने आवास पर समीक्षा करते हैं तो दोपहर में गाजियाबाद और फिर देर शाम तक स्थिति का आकलन करने में जुट जाते हैं। उनकी कार्यशैली का यह सिलसिला बीते कई दिनों से चल रहा है।

मुख्यमंत्री ने सोमवार को सुबह अपने आवास पर समीक्षा की और दोपहर बाद नोएडा पहुंच गए। वहां समीक्षा करने के बाद उन्होंने कई अस्पतालों का जायजा भी लिया। मंगलवार को उनका मेरठ, गाजियाबाद और आगरा का कार्यक्रम था। उन्होंने गाजियाबाद में निरीक्षण आदि किया, फिर जब पता चला कि दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात से पूरे प्रदेश में संक्रमण फैलने की आशंका है तो लौटकर लखनऊ आ गए। 

इससे पहले बड़ी चुनौती दिल्ली से मिली जब हजारों लोग यूपी बिहार के लिए बार्डर पर भेज दिए गए। योगी ने अपनी टीम के जरिये उनके भोजन पानी के साथ मेडिकल जांच की व्यवस्था करवाई। सीएम के करीब रहने वाले अधिकारी बताते हैं कि वह मंगलवार को गाजियाबाद से 12:15 आवास पहुंचे, 12:30 टीम 11 के अधिकारियों के साथ बैठक शुरू कर दी। दो बजे बैठक ख़त्म होने के बाद जरूरी कागज पर दस्तख़त किए और प्रदेश भर का फीडबैक लेने के बाद शाम को सात बजे फिर उन्होंने मेरठ व आगरा मंडल के नौ जिलों के डीएम-एसपी के साथ बैठक की।

Next Post

रामायण की सीता दीपिका चिलखिया बड़े पर्दे पर निभाएंगी सरोजिनी नायडू का रोल

कोरोना वायरस के कारण देशभर में लॉडाउन है। लोग घरों पर हैं तो सरकार ने धारावाहिक रामायण और महाभारत को शुरू कर दिया है। रामायण में सीता का रोल निभाने वाली दीपिका चिलखिया अब पर्दे पर पहली महिला गवर्नर सरोजिनी नायडू की भूमिका निभाने जा रही हैं। फिल्म के डायरेक्टर […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।