ऑक्सीजन की व्यवस्था नहीं तो मरीज भर्ती न करें

News Desk

 वाराणसी 
बेड की समस्या आने वाले दिनों में बढ़ने वाली है, क्योंकि जिला प्रशासन की ओर से निजी अस्पतालों को स्पष्ट निर्देश दिया गया है कि ऑक्सीजन की उपलब्धता के हिसाब से बेड पर इलाज शुरू किया जाए। यह भी कहा गया है कि यदि ऑक्सीजन की खपत अस्पताल में बढ़ गयी है तो बेड की संख्या भी घटा दें। गुरुवार तो ऑक्सीजन की उपलब्धता नहीं होने पर गिलट बाजार स्थित त्रिमूर्ति अस्पताल ने पांच कोरोना मरीजों को बीएचयू में शिफ्ट कर दिया।

कोरोना के बढ़ रहे मरीजों का इलाज करने के लिए तय निजी अस्पतालों ने काफी तेजी से भर्ती शुरू कर दिया। हालांकि अस्पताल में बेड के सापेक्ष ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं होने से इसकी शिकायत जिला प्रशासन के पास पहुंचने लगी। ऑक्सीजन आपूर्ति की व्यवस्था को जिला प्रशासन ने अपने हाथों में ले लिया है। लिहाजा, निजी अस्पताल अब प्रशासन से गुहार लगा रहे हैं। विगत दिनों में कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की किल्लत से अफरातफरी मच गयी थी। जिसके कारण को प्रशासन को आपाधापी में व्यवस्था करनी पड़ी। बुधवार को कुछ ऐसा ही वाकया गिलट बाजार स्थित त्रिमूर्ति अस्पताल में हो गया। लिहाजा, प्रशासन की पहल पर ऑक्सीजन की व्यवस्था की गयी। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने निजी अस्पतालों को दो टूक निर्देश दिया है कि ऑक्सीजन की सुविधा के हिसाब से मरीजों को भर्ती करें। इसके बाद से गुरुवार को निजी अस्पातलों ने मरीजों को भर्ती लेने से हाथ खड़े कर दिये।

Next Post

बांदा जेल में बंद मुख्तार अंसारी से पूछताछ करेगी आजमगढ़ पुलिस, 7 साल पुराना है मामला 

आजमगढ़ उत्‍तर प्रदेश की बांदा जेल में बंद माफिया मुख्तार अंसारी से आजमगढ़ पुलिस पूछताछ करने की तैयारी में है। आजमगढ़ की गैंगस्टर कोर्ट ने पुलिस को पूछताछ करने की अनुमति दे दी है। अब पूछताछ के लिए सोमवार को आजमगढ़ से बांदा जेल के लिए पुलिस रवाना होगी। इस […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।