इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह हत्याकांड में पटना पुलिस ने नौ संदिग्धों को उठाया

News Desk

पटना 
बिहार की राजधानी पटना में इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह हत्याकांड के मामले में शक के आधार पर शनिवार की देर रात पुलिस ने पुनाईचक और राजाबाजार के नौ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। सूत्रों की मानें तो उठाये गये लोगों में जहां कई अपराधी प्रवृत्ति के हैं। वहीं कुछ के तार एयरपोर्ट से जुड़े रहे हैं।

सूत्रों ने बताया है कि अपराधियों की तलाश में दिल्ली, यूपी व गोवा गई पुलिस टीम शनिवार को खाली हाथ पटना लौट आयी। ऐसे में सीसीटीवी का जो फुटेज हाथ लगा है, उसकी जांच व धुंधली तस्वीर उजागर करने के लिए लैब में भेजा गया है। 

दरअसल, वारदात के बाद रूपेश सिंह की कार में मिले मोबाइल को पुलिस ने जब्त किया है। कॉल डिटेल्स और मैसेज चैटिंग के दौरान हुई बातों को गंभीरता से लेते हुये एसआईटी मामले की तह तक जाने व हत्या से जुड़ी कड़ियों का पता लगाने में जुटी है। सूत्रों की मानें तो शनिवार की देर शाम पुलिस ने पुनाईचक, राजाबाजार, कंकड़बाग और दीघा में दबिश देकर नौ संदिग्धों को हिरासत में लिया। पुलिस की एक टीम ने टेंडर या रुपए की लेनदेन की जांच करने के लिए एक सरकारी विभाग में भी दबिश दी थी। माना जा रहा है कि हत्या के तार पटना और दो अन्य जिलों से जुड़ रहे हैं। ऐसी भी आशंका व्यक्त की जा रही है कि हो न हो शूटर इन्हीं तीनों जिलों के हों। 
 

Next Post

योगी सरकार की सपा सांसद आजम खां पर सबसे बड़ी कार्रवाई, जौहर यूनिवर्सिटी से 70 हेक्टेयर जमीन छीनी

रामपुर सपा सांसद मोहम्मद आजम खां को एक और बड़ा झटका लगा है। जौहर ट्रस्ट द्वारा जौहर यूनिवर्सिटी के लिए खरीदी गई करीब 70 हेक्टेयर जमीन शासनादेश के उल्लंघन की जद में आ गई है। एडीएम (प्रशासन) जगदंबा प्रसाद गुप्ता की कोर्ट ने जौहर विवि की यह जमीन राज्य सरकार […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।