आदेश जारी, अब कांट्रेक्ट बेस सरकारी नौकरी चाहिए तो सौंपना होगा ये अहम दस्तावेज

News Desk

पटना 
बिहार में राज्य सरकार के अधीन कांट्रेक्ट बेस सरकारी नौकरी चाहिए तो कैंडिडेट्स को ये अहम दस्तावेज जमा करना होगा। सामान्य प्रशासन विभाग ने इस बाबत सभी विभागों के अपर मुख्य सचिव, प्रधान सचिव, सचिव, डीजीपी, प्रमंडलीय आयुक्त और जिलाधिकारियों को पत्र जारी किया है। दरअसल बिहार में संविदा आधारित नियोजन(Contract Job in Bihar) के लिए अब चरित्र एवं पूर्ववृत्त का सत्यापन जरूरी कर दिया गया है। इसके लिए जरूरी जानकारी खुद अनुशंसित उम्मीदवार को देनी होगी जिनका नियोजन होना है। इस दौरान कोई उम्मीदवार यदि अपने ऊपर दायर आपराधिक मामले को छुपाता है तो उसे कदाचार माना जाएगा। 

 बिहार सरकार में स्वच्छ छवि के पदाधिकारियों और कर्मचारियों की नियुक्ति हो इसके लिए साल 2006 में ही नौकरी हेतु अनुशंसित अभ्यर्थियों के चरित्र एवं पूर्ववृत्त सत्यापन का प्रावधान है। इसके लिए निर्धारित प्रक्रिया है जिसमें जरूरी सूचनाएं अभ्यर्थियों द्वारा स्वयं भरी जाती हैं। संविदा आधारित विभिन्न पदों पर नियोजन के लिए अनुशंसित उम्मीदवारों के चरित्र और पूर्ववृत सत्यापन कराने का मामला सरकार के पास विचाराधीन था। अब इसे लागू कर दिया गया है। 

 संविदा पर नियोजन के लिए अनुशंसित उम्मीदवारों को सत्यापन का फॉर्म खुद भरना होगा। इसमें उन्हें पूर्ण एवं सही सूचनाएं देनी होंगी। अभ्यर्थी को अपने ऊपर दर्ज आपराधिक मामले की सूचना सही-सही अंकित करनी होगी। ऐसी किसी सूचना को छुपाया जाता है तो उसे संबंधित कर्मी का कदाचार माना जाएगा। फॉर्म को सत्यापन के लिए संबंधित जिला पदाधिकारी के माध्यम से पुलिस को भेजा जाएगा। चरित्र एवं पूर्ववृत्त के सत्यापित होने के बाद ही सक्षम नियुक्ति प्राधिकार की इजाजत से नियोजन की कार्रवाई की जाएगी। 
 

Next Post

Bajaj के दोपहिया वाहनों की भारत में 6 फीसदी की साल दर साल बढ़त दर्ज

नई दिल्ली Bajaj Auto (बजाज ऑटो) ने फरवरी 2021 की सेल्स रिपोर्ट पेश कर दी है, जहां कंपनी की बिक्री में 6 फीसदी की साल दर साल बढ़त दर्ज की गई। बजाज ऑटो के फरवरी 2021 में कुल (दोपहिया+कॉमर्शियल वाहन) 375,017 वाहनों की बिक्री हुई। जबकि, फरवरी 2019 में कंपनी […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।