सरदेगना ओपन के पहले दौर में हारे सुमित

News Desk

कैगलिएरी
भारत के सुमित नागल  यहां स्लोवाकिया के जोजेफ कोवालिक के खिलाफ एटीपी 250 सरदेगना ओपन के पहले दौर के कड़े मुकाबले में हारकर बाहर हो गए। विश्व रैंकिंग में 136वें पायदान पर काबिज नागल और 124वीं रैंकिंग पर काबिज कोवालिक क्वालीफाइंग दौर के जरिये मुख्य ड्रॉ में पहुंचे थे।

हालांकि, दो घंटे 13 मिनट तक चले इस कड़े मुकाबले में स्लोवाकियाई खिलाड़ी ने 3-6, 6-1, 6-3 से जीत दर्ज की। इससे पहले नागल ने क्वालीफाइंग दौर के अपने दोनों मैच सीधे सेटों में जीते थे। वह क्वालीफायर के दूसरे दौर में फ्रांस के मैक्सिमे जानविएर को 6-2, 6-1 से हराकर मुख्य ड्रॉ में पहुंचे थे। इससे पहले क्वालीफाइंग दौर के पहले मुकाबले में उन्होंने स्थानीय खिलाड़ी एंड्रिया पेलेग्रिनो को 6-3, 6-4 से हराया था।

बता दें कि कोवालिक 2016 के बाद से ग्रैंड स्लैम एकल स्पर्धा के पहले दौर से आगे नहीं बढ़ पाए हैं। वहीं नागल, अपनी सिंगल्स रैंकिंग में सुधार करने और शीर्ष -100 में प्रवेश करने के लिए लगातार एटीपी 250, 500 और बड़े टूर्नामेंट खेल रहे हैं। 2017 में अपना पहला चैलेंजर खिताब जीतने के बाद से उनका प्रदर्शन लगातार बेहतर बना हुआ है। 23 वर्षीय इस युवा खिलाड़ी ने 2019 यूएस ओपन में अपना ग्रैंड स्लैम पदार्पण किया था।
इसके बाद 2020 यूएस ओपन में अपनी पहली ग्रैंड स्लैम जीत दर्ज की और वाइल्ड कार्ड इंट्री प्राप्त करके इस वर्ष ऑस्ट्रेलियन ओपन में प्रवेश किया। दिग्गज डबल्स स्पेशलिस्ट और डेविस कप के पूर्व कप्तान महेश भूपति नागल से प्रभावित हुए हैं। उन्होंने कहा है कि नागल बहुत जल्द विश्व रैंकिंग के शीर्ष -100 में प्रवेश कर जाएंगे।

Next Post

हिमा और नीरज सहित कई खिलाड़ी तुर्की में अभ्यास करेंगे

नई दिल्ली भाला फेंक के एथलीट नीरज चोपड़ा और धाविका हिमा दास सहित भारत के चोटी के ट्रैक एवं फील्ड खिलाड़ी इस महीने के आखिर में तुर्की में अभ्यास करेंगे और इस बीच कुछ प्रतियोगिताओं में भी हिस्सा लेंगे। चोपड़ा के अलावा ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके भाला फेंक […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।