विराट कोहली का मैदान पर खराब दिन, केएल राहुल के सिर्फ कैच नहीं, मैच छोड़ा

News Desk

नई दिल्ली
रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) के लिए आज का दिन मैदान पर निराशाजनक रहा। किंग्स XI पंजाब के खिलाफ खेले गए मैच में आज टॉस के अलावा उनके पक्ष में कुछ भी जाता नहीं दिखा। विराट को उम्मीद थी कि उनकी टीम यहां किसी भी लक्ष्य को आसानी से चेज कर लेगी इसलिए उन्होंने यहां टॉस जीतकर पहले फील्डिंग का निर्णय लिया था। मैच के पहले 16 ओवरों तक मैच बराबरी पर ही था। यहां किंग्स XI पंजाब का स्कोर 3 विकेट पर 132 रन ही था। इसके बाद विराट कोहली की खराब फील्डिंग की बदौलत किंग्स को कमाल का अडवांटेज मिल गया। आरसीबी के गेंदबाजों ने दो-दो बार केएल राहुल को उनके शतक से पहले आउट करने के मौके बनाए थे। दोनों ही मौकों पर कप्तान विराट कोहली के हाथ में आसान से कैच गए थे और दोनो ही मौकों पर विराट से यह कैच छूट गए। राहुल को पहला जीवनदान 83 के निजी स्कोर पर मिला था और फिर दूसरा जीवनदान 89 के स्कोर पर। इसके बाद राहुल ने रुकने का नाम नहीं लिया और उन्होंने दूसरे जीवनदान के बाद ताबड़तोड़ 43 रन ठोक दिए। राहुल की बदौलत किंग्स ने अंतिम 4 ओवर में बिना कोई विकेट गंवाए 71 रन ठोक दिए, जिससे उसका स्कोर 206 पर पहुंच गया।

इसके बाद विराट कोहली नंबर 4 पर बैटिंग करने आए थे। उनसे उम्मीद थी कि वह इस पिच पर केएल राहुल की ही तरह ताबड़तोड़ बैटिंग कर किंग्स के सामने गंभीर चुनौती पेश करेंगे। लेकिन इस पारी में कप्तान कोहली सिर्फ 5 गेंद ही खेल पाए और सिर्फ 1 रन पर शेल्डन कॉटरेल की गेंद पर आउट होकर पविलियन लौट गए। विराट ने आरसीबी के तीसरे विकेट के रूप में अपना विकेट गंवाया और जिस वक्त वह आउट हुए तब आरसीबी का स्कोर सिर्फ 4 रन ही था। इसके बाद आरसीबी ने डिविलियर्स और फिंच के विकेट भी गंवाए, जिससे उसकी हार सुनिश्चित हो गई।

 

Next Post

कैसे और कहां से आया कोरोना वयारस? 5 और 6 अक्टूबर को पहला अपडेट देगा WHO का स्वतंत्र पैनल

नई दिल्ली विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के महानिदेशक टेड्रोस एडहोम की ओर से कोविड-19 को लेकर जुलाई में बनाया गया स्वतंत्र पैनल 5-6 अक्टूबर को होने वाली वर्ल्ड एग्जीक्यूटिव बॉडी की मीटिंग में पहला अपडेट देगा। बता दें कि डब्ल्यूएचओ प्रमुख और बीजिंग को चीन के वुहान में उत्पन्न होने […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।