डेब्यू टेस्ट, 1 पारी में 19 नो बॉल.. टीम से आउट

News Desk

नई दिल्ली
कोई भी खिलाड़ी अपने डेब्यू मैच में कमाल करना चाहता है जिससे उसे आगे और मौके मिलें लेकिन अगर कोई पहले ही मैच में खराब प्रदर्शन करे तो उसके लिए मुश्किल खड़ी हो जाती है। ऐसे ही एक पूर्व क्रिकेटर हैं वेस्ट इंडीज के पैटरसन थॉम्पसन।

पूर्व पेसर पैटरसन ने आज ही के दिन यानी 19 अप्रैल को न्यूजीलैंड ke खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया लेकिन इस मैच में उनका प्रदर्शन इतना खराब रहा कि करीब 6 महीने तक वह टीम से बाहर रहे और करियर में केवल 2 ही टेस्ट मैच खेल सके।

बारबाडोस में जन्मे पैटरसन न्यूजीलैंड के खिलाफ ब्रिजटाउन में 19 अप्रैल 1996 को अपने इंटरनैशनल करियर का पहला मैच खेलने उतरे। इस मैच में पैटरसन ने 4 विकेट तो लिए लेकिन अपने पहले ही ओवर में 17 रन लुटा दिए। दूसरे ओवर में 8 और पहली पारी में 8 ओवर गेंदबाजी के बाद 2 विकेट लेकर 58 रन दिए। इस पारी में 19 नोबॉल रहीं।

दूसरी पारी में 14 ओवर गेंदबाजी तो की लेकिन 77 रन दे डाले और 2 विकेट झटके। अगले ही टेस्ट में उनकी जगह लेग स्पिनर राजिंदर धनराज को टीम में शामिल कर लिया गया। उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जनवरी 1997 में अगला टेस्ट खेलने का मौका मिला और वहां उन्होंने 16 ओवर में 80 रन देकर 1 विकेट लिया।

Next Post

आयुष कर्मी लोगों को इम्युनिटी पॉवर बढ़ाने के लिये नि:शुल्क बांट रहे औषधियाँ

 भोपाल विश्वव्यापी कोरोना वायरस की महामारी की फरवरी माह में प्राथमिक सूचना मिलते ही कटनी जिले में आयुष कर्मी शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों का इम्युनिटी पॉवर बढ़ाने के लिये उन्हें नि:शुल्क औषधियाँ बांट रहे हैं। इस काम के लिये उन्होंने सबसे पहले जिला प्रशासन के सहयोग से कार्य-योजना […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।