किंग्स XI पंजाब ने रॉयल चैलेंजर्स को 97 रन से हराया, दर्ज की सीजन की सबसे बड़ी जीत

News Desk

दुबई
किंग्स XI पंजाब (KXIP) ने अपने कप्तान केएल राहुल (KL Rahul) के शानदार शतक की बदौलत रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) को एकतरफा मुकाबले में 97 रन से हराकर सीजन की अपनी पहली जीत दर्ज कर ली है। 207 रन के जवाब में विराट कोहली के नेतृत्व वाली टीम 17 ओवर में सिर्फ 106 रन बनाकर ऑलआउट हो गई। पंजाब की जीत के हीरो उसके कप्तान केएल राहुल रहे, जिन्होंने नाबाद 132 रन ठोके। इसके बाद उसके बोलरों ने आरसीबी को मैच में टिकने का कोई मौका ही नहीं दिया। इस पंजाब की इस सीजन की पहली जीत है और उसने रनों के लिहाज से इस सीजन की अभी तक की सबसे बड़ी जीत अपने नाम की है। आरसीबी की पूरी टीम केएल राहुल के निजी स्कोर से भी 33 रन पीछे रह गई। राहुल को इस शानदार बैटिंग के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया। राहुल के अलावा मुर्गन अश्विन (3/21) और रवि विश्नोई (3/32) ने तीन-तीन विकेट आपस में बांटे।

बड़े स्कोर के सामने बिखरा आरसीबी, मात्र 4 रन पर गंवाए 3 विकेट
207 रन के विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम पर दबाव साफ दिख रहा था। पारी की शुरुआत में ही उसने अपने 3 अहम विकेट गंवा दिए। पिछले मैच में शानदार फिफ्टी जड़ने वाले देवदत्त पडीक्कल (1) और विराट कोहली (1) को शेल्डन कॉटरेल ने अपना शिकार बनाया, जबकि जोश फिलिप (0) को मोहम्मद शमी बगैर खाता खोले पविलियन भेज दिया। सिर्फ 4 रन के कुल स्कोर पर रॉयल्स ने अपने 3 अहम विकेट गंवा दिए।

फिंच-डिविलियर्स कुछ रुके और फिर चले
जल्दी-जल्दी 3 विकेट गंवाने के बाद एरॉन फिंच और एबी डिविलियर्स ने पारी को संभालने की कोशिश की। डिविलियर्स ने ने एक छोर से 4 चौके और 1 छक्का भी जड़ दिया। दूसरे छोर से फिंच पारी को जमा रहे थे और अभी उन्होंने तीन चौके ही जड़े थे। लेकिन रवि विश्नोई ने उन्हें बोल्ड कर चलता कर दिया। इसके बाद अगली 3 गेंदों में मुर्गन अश्विन ने डिविलियर्स को अपने जाल में फंसा लिया। अब रॉयल्स की टीम 57 रन पर 5 विकेट गंवा चुकी थी।

90 से पहले 7 खिलाड़ी आउट
डिविलियर्स फिंच के बाद रॉयल्स की हार लगभग तय हो चुकी थी लेकिन शिवम दुबे ने वॉशिंग्टन सुंदर के साथ मिलकर हार के अंतर को कम करने की कोशिश जरूर की लेकिन ग्लेन मैक्सवेल ने 83 के स्कोर पर दुबे (12) को बोल्ड कर उसके छठा झटका दे दिया। कुछ ही पलों बाद उमेश यादव भी रवि विश्नोई की गेंद पर बोल्ड हो गए। आरसीबी ने यहां अपना 7वां विकेट गंवा दिया। इसके बाद 109 रन तक पहुंचते-पहुंचते आरसीबी ने अपने सभी 10 विकेट गंवा दिए।

ऐसी रही किंग्स XI पंजाब की पारी
इससे पहले टॉस हारकर पहले बैटिंग का निमंत्रण पाने वाली किंग्स XI पंजाब के लिए कप्तान केएल राहुल और मयंक अग्रवाल की जोड़ी ने शानदार शुरुआत की। दोनों बल्लेबाजों ने पावरप्ले में बिना कोई विकेट गंवाए 50 रन जोड़ लिए। लेकिन आरसीबी के कप्तान विराट कोहली ने पावर प्ले खत्म होते ही अपने सबसे चतुर गेंदबाज युजवेंद्र चहल को अटैक पर लगा दिया। चहल ने अपने पहले ही ओवर में अपनी गुगली पर मयंक अग्रवाल (26) पर बोल्ड कर दिया। मयंक चहल की गुगली को समझ ही नहीं पाए।

अंतिम 4 ओवर में किंग्स ने जड़े 74 रन
इसक बाद निकोलस पूरन (17) ने राहुल के साथ दूसरे विकेट के 57 रन की साझेदारी की। कुछ देर बाद ग्लेन मैक्सवेल (5) भी आउट हो गए। 16वें ओवर में मैक्सवेल के आउट होने के वक्त पंजाब का स्कोर 128 रन ही था। लग रहा था रॉयल चैलेंजर्स की टीम अब किंग्स पर अंकुश लगा देगी। लेकिन किंग्स के कप्तान क्रीज पर थे और उन्होंने परिस्थितियों को भांपते हुए अपने गियर बदल लिए। किंग्स की टीम ने अंतिम 4 ओवरों में 74 रन अपने खाते में कर इस मैच से बैंगलोर को बाहर कर दिया।

अपनी पारी की अंतिम 15 बॉल में ठोके 50 रन
16 ओवर के बाद उनके खाते में 51 गेंद खेलकर सिर्फ 72 रन ही थे। इसके बाद अपनी पारी की अंतिम 15 गेंदों में उन्होंने ताबड़तोड़ 50 रन जड़ डाले। इस दौरान ज्यादातर मौकों पर स्ट्राइक उन्होंने अपने हाथ में ही रखी और दूसरे छोर पर खड़े करुण नायर (15*) को सिर्फ 8 बॉल खेलने को मिलीं। राहुल को यहां दो मौकों पर जीवनदान भी मिला। दोनों ही मौकों पर विरोधी कप्तान विराट कोहली ने उनके दो आसान से कैच छोड़कर उन्हें शतक बनाने का मौका दिया। राहुल शतक बनाने तक ही नहीं रुके उन्होंने अंतिम दो ओवरों में 5 छक्के जड़कर किंग्स का स्कोर 200 के पार पहुंचा दिया।

Next Post

राफेल डील पर कांग्रेस का दावा- कैग ने स्वीकारा, अनुबंध से हटाया गया 'टेक्नॉलजी ट्रांसफर'

नई दिल्ली लड़ाकू विमान राफेल को लेकर एक बार फिर से सियासी घमासान का सिलसिला गुरुवार को शुरू हो गया। नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) की ताजा रिपोर्ट सामने आने के बाद कांग्रेस ने एक बार फिर नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा है। कैग की रिपोर्ट का हवाला देते […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।