ऑस्ट्रेलिया के हेड कोच जस्टिन लैंगर टेस्ट सीरीज में चोटिल खिलाड़ियों से परेशान, आईपीएल को माना जिम्मेदार

News Desk

ब्रिसबेन
ऑस्ट्रेलिया के कोच जस्टिन लैंगर को इंडियन प्रीमियर लीग पसंद है लेकिन उन्होंने पिछले सीजन की टाइमिंग पर सवाल उठाते हुए कहा कि मौजूदा सीरीज में भारत और ऑस्ट्रेलिया के इतने क्रिकेटरों के चोटिल होने में इस लीग का भी योगदान है। कोरोना महामारी के कारण आईपीएल सितंबर से नवंबर के बीच यूएई में खेला गया। आम तौर पर यह अप्रैल मई में भारत में होता है। आईपीएल के बाद से भारत के कई खिलाड़ी चोटिल हैं और ऑस्ट्रेलिया टीम भी फिटनेस की समस्याओं से जूझ रही है। लैंगर ने एक वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि इस सीजन में चोटों की लिस्ट लंबी है। मुझे लगता है कि आईपीएल 2020 की टाइमिंग सही नहीं थी। खास तौर पर इतनी बड़ी सीरीज से पहले तो कतई नहीं। भारत के प्रमुख खिलाड़ी मोहम्मद शमी, के एल राहुल और उमेश यादव तो चोटों के कारण सीरीज से बाहर हुए ही और अब ताजा नाम रवींद्र जडेजा और जसप्रीत बुमराह का भी जुड़ गया है। ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर पहले दो टेस्ट नहीं खेल सके।

लैंगर ने हालांकि आईपीएल की तारीफ करते हुए कहा कि मुझे आईपीएल पसंद है। यह उसी तरह है जैसे मेरे युवा दिनों में काउंटी क्रिकेट था। काउंटी खेलकर क्रिकेट कौशल का विकास होता था और अब आईपीएल से लिमिटेड ओवरों के खेल में निखार आ रहा है। उन्होंने कहा कि लेकिन इस बार टाइमिंग सही नहीं थी। दोनों टीमों में कितने खिलाड़ी चोटिल हैं जो लीग का असर भी हो सकता है। उन्होंने आगे कहा कि मुझे यकीन है कि इसकी समीक्षा की जाएगी। यह पूछने पर कि बुमराह और जडेजा के नहीं खेलने का कितना असर होगा, उन्होंने कहा कि निश्चित तौर पर काफी असर होगा, लेकिन मुझे लगता है कि अब यह सबसे फिट के बाजी मारने की बात हो गई है। चौथा टेस्ट 15 जनवरी से ब्रिसबेन में शुरू होगा

Next Post

टीकाकरण से पहले हेल्थ वर्कर्स की लिस्ट में बड़ी गड़बड़ी, मृत नर्स और रिटायर्ड डॉक्टर्स का नाम भी शामिल

अयोध्या कोरोना महामारी के बीच 16 जनवरी से देश में टीकाकरण (वैक्सीनेशन) अभियान शुरू होगा. लेकिन इस बीच उत्तर प्रदेश के अयोध्या में वैक्सीन लगने वाली लाभार्थियों की लिस्ट में बड़ी गड़बड़ी सामने आई है. स्वास्थ्य विभाग द्वारा तैयार की गई अपने लाभार्थियों की लिस्ट में मृत नर्स, रिटायर्ड नर्स […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।