ऑरेंज कैप पर कब्जा: डेविड वॉर्नर ने सबसे ज्यादा बार किया है यह कारनामा

News Desk

 नई दिल्ली 
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 14वें सीजन का आगाज 9 अप्रैल से होना है। अभी तक खेले गए 13 सीजन में कोई भी भारतीय बल्लेबाज एक से ज्यादा बार ऑरेंज कैप पर कब्जा नहीं जमा पाया है। ओवरऑल बात करें तो डेविड वॉर्नर इकलौते ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने तीन बार ऑरेंज कैप अपने नाम की है, जबकि क्रिस गेल दो बार यह कारनामा कर चुके हैं। महज चार ऐसे भारतीय बल्लेबाज हैं, जिन्होंने ऑरेंज कैप जीती है। क्रिस गेल इकलौते ऐसे बल्लेबाज हैं, जिन्होंने बैक टू बैक दो ऑरेंज कैप अपने नाम की है। चलिए एक नजर डालते हैं कि अभी तक किस साल में किस खिलाड़ी ने किस टीम की ओर से खेलते हुए ऑरेंज कैप अपने नाम की है- 
 
आईपीएल के एक सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड विराट कोहली के नाम दर्ज है, जिन्होंने 2016 में 973 रन ठोके थे। सबसे पहले ऑरेंज कैप सजी थी ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज शॉन मार्श के सिर, जिन्होंने 2008 में किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से खेलते हुए 670 रन बनाए थे। ऑरेंज कैप जीतने वाले पहले भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर थे, जिन्होंने 2010 में मुंबई इंडियंस की ओर से 618 रन ठोके थे।
 
अगर टीमों की बात करें तो सनराइजर्स हैदराबाद के बल्लेबाज के सिर पर सबसे ज्यादा बार ऑरेंज कैप सजी है। चार बार सनराइजर्स हैदराबाद के बल्लेबाज ने ऑरेंज कैप जीती है, जबकि दूसरे नंबर पर रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर है, जिसके बल्लेबाज तीन बार यह कारनामा कर चुके हैं। चेन्नई सुपर किंग्स और किंग्स XI पंजाब (अब पंजाब किंग्स) की ओर से दो-दो उनके बल्लेबाज ऑरेंज कैप जीत चुके हैं।

Next Post

बिहार में डॉक्टर-स्वास्थ्यकर्मियों की छुट्टी 31 मई तक रद्द 

पटना  बिहार के सभी प्रखंडों में क्वारंटाइन सेंटर बनेंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि देश के अन्य राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से फैल रहे हैं। उन राज्यों से बिहार के लोगों के वापस आने की संभावना है। इसे ध्यान में रखते हुए प्रखंडस्तर पर क्वारंटाइन सेंटर […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।