इंडिया पर ‘पाबंदियां’, टीम इंडिया इन दिनों ब्रिस्बेन के होटल में खिलाड़ियों को नहीं मिल रहीं ये सुविधाएं

News Desk

ब्रिस्बेन
चौथे और अंतिम टेस्ट के लिए टीम इंडिया ब्रिस्बेन पहुंच गई है. यहां टीम पर कई 'पाबंदियां' हैं. होटल में खिलाड़ियों को कई सुविधाएं नहीं मिल रही हैं. भारतीय टीम जिस होटल में रुकी है, वहां खिलाड़ी हाउसकीपिंग सर्विस के अलावा स्वीमिंग पूल का इस्तेमाल नहीं कर सकते. समझा जाता है कि कोविड-19 ट्रांसमीशन कम्यूनिटी को रोकने के लिए ऐसा किया गया है, क्योंकि ब्रिस्बेन पहले ही हॉटस्पॉट एरिया घोषित किया जा चुका है. कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों और न्यू साउथ वेल्स के साथ सीमा पर लॉकडाउन के कारण होटल में क्वारनटीन के कड़े नियम हैं. चार मैचों की टेस्ट सीरीज फिलहाल 1-1 से बराबरी पर है. सीरीज का निर्णायक मैच 15 जनवरी से ब्रिस्बेन के गाबा में खेला जाएगा.

रिपोर्ट के मुताबिक. बीसीसीआई एक अधिकारी ने कहा ने कहा कि भारतीय टीम मंगलवार दोपहर ब्रिस्बेन पहुंची. इसके बाद उन्हें हाउसकीपिंग, रूम सर्विस और स्वीमिंग पूल के इस्तेमाल करने को भी मना कर दिया गया. अधिकारी ने कहा कि बीसीसीआई इस मामले में सीए के संपर्क में है. उम्मीद है कि मामले का हल निकाल लिया जाएगा.

एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक, भारतीय टीम के साथ यात्रा करने वाले एक सदस्‍य ने कहा कि खिलाड़ी कमरे में बंद हैं. सभी अपना बिस्‍तर खुद लगा रहे हैं. खाना भी पास के भारतीय रेस्‍टोरेंट से आ रहा है. होटल के सभी कैफे और रेस्‍टोरेंट बंद है. यहां तक कि खिलाड़ियों को खुद टॉयलेट साफ करना पड़ रहा है. बताया जाता है कि पूरा होटल खाली है, फिर भी खिलाड़ियों को स्‍वीमिंग पूल तथा जिम जैसी सुविधाओं से वंचित रखा गया है. इससे पहले तो अटकलें यह भी थीं कि भारतीय टीम ब्रिस्बेन नहीं जाएगी. हालांकि इस मामले में बीसीसीआई या फिर सीए का कोई आधिकारिक बयान नहीं आया था.

Next Post

गाजियाबाद: नशेड़ी पति संग रहने से इन्‍कार किया तो सास ने देवर से संबंध बनाने पर किया मजबूर!

गाजियाबाद दिल्‍ली से सटे गाजियाबाद में एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां शादी के लिए लड़की को लड़का कोई और दिखाया गया पर दूल्हा बनकर मंडप में कोई और पहुंच गया। लड़की के दरवाजे पर बारात पहुंची तो लड़की ने शादी करने से इन्‍कार कर दिया। इस पर दोनों […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।