पॉलिटिक्स

उपचुनाव चुनाव तैयारियों में जुटी बीजेपी और कांग्रेस

भोपाल

मध्य प्रदेश में उपचुनाव की तारीखों का भले ही ऐलान नहीं हुआ है लेकिन राजनीतिक दलों ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है. उपचुनाव की लड़ाई में सबसे अहम सीटों में से एक सांवेर विधानसभा सीट पर तो बीजेपी ने अपने नेता 'तुलसी सिलावट' की ब्रांडिंग के लिए 'तुलसी' को ही हथियार बनाया है.

सांवेर विधानसभा में बीजेपी ने 'हर-हर मोदी, घर-घर तुलसी' अभियान की शुरुआत की है. जिसके तहत बीजेपी नेता घर-घर जाकर तुलसी के पौधे बांट रहे हैं. पौधे के साथ केंद्र सरकार की उपलब्धियों का एक पर्चा भी दिया जा रहा है, जिस पर तुलसी सिलावट की फोटो और उनके विभाग की उपलब्धियों का जिक्र है.

तुलसी का पौधा बांटकर बीजेपी दरअसल एक तीर से दो निशाने साध रही है. पहला तो ये कि तुलसी के पौधे का धार्मिक महत्व होता है. हिन्दू संस्कृति के तहत तुलसी के पौधे को पूजनीय भी माना गया है. इसलिए तुलसी को सम्मान भी दिया जाता है. वहीं बीजेपी नेता और सांवेर से विधायक रह चुके सिलावट का पहला नाम 'तुलसी' है और बीजेपी तुलसी नाम को धार्मिक आस्थाओं से जोड़कर इसे चुनाव में भुनाना चाह रही है.

वहीं दूसरी तरफ कोरोना वायरस से बचाव में तुलसी के औषधीय महत्व को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी लोगों को बता भी रही है कि कोरोना वायरस के इस काल में तुलसी उनकी सेहत के लिए कितनी फायदेमंद है. इस तरह बीजेपी लोगों से भावनात्मक जुड़ाव की कोशिश भी कर रही है.

कांग्रेस बांट रही है 'शिवलिंग'

वहीं बीजेपी के प्रचार के जवाब में कांग्रेस ने तय किया है कि वो घर-घर शिवलिंग बांटकर बीजेपी के धर्म वाले एजेंडे की काट धर्म से ही करेगी. कमलनाथ सरकार में मंत्री रहे जीतू पटवारी का कहना है कि कांग्रेस पहले से ही घर-घर शिवलिंग बांटने का काम कर रही है.

जीतू पटवारी ने  बताया कि कांग्रेस करीब एक लाख शिवलिंग बांटने का लक्ष्य लेकर चल रही है और शिवलिंग के साथ, तांबे का स्टैंड, पूजन सामग्री, प्रसाद और शिवलिंग की घर में स्थापना और पूजन कैसे करें, इसकी विधि भी बांट रही है. जीतू पटवारी ने तुलसी सिलावट पर तंज कसते हुए कहा है कि 'वो तुलसी बांटे या आम, कांग्रेस इस चुनाव में उनका पूरा रस निचोड़ देगी'.

Back to top button