रवि किशन UP के नंबर वन सांसद बने, संसद में पूछे सबसे ज्यादा सवाल

News Desk

गोरखपुर
उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद गोरखपुर के बीजेपी सांसद रवि किशन शुक्ला हमेशा खबरों में बने रहते हैं। यूपी के नंबर वन सांसद बनकर एक बार फिर उन्‍होंने सुर्खियां बटोरी हैं। विभिन्न मानकों पर देश के सांसदों की रैंकिंग की गई है। इस दौरान अभिनेता और सांसद रवि किशन शुक्ला ने देश में 24वां और उत्‍तर प्रदेश में पहला स्थान हासिल किया है। इसके अलावा संसद में सबसे ज्यादा प्रश्न पूछने वाले नंबर वन सांसद भी वह बन गए हैं। इस उपलब्धि के लिए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ का आभार व्यक्त किया है। गौरतलब है कि संसद में सवाल पूछने के मामले में नंबर वन बने रवि किशन शुक्ला जनता की समस्याओं और युवकों को भ्रमित होने से बचाने के लिए कई अहम मुद्दे उठा चुके हैं। बतौर सांसद उन्होंने युवाओं में बढ़ रही ड्रग्स की बुरी लत जैसे मुद्दों के अलावा स्थानीय जनता की समस्याओं और भोजपुरी को आठवीं अनुसूची में शामिल करने के मुद्दे संसद में उठाए हैं।

सदर सांसद रवि किशन का कहना है कि मैंने अपने संसदीय क्षेत्र के अलावा देश हित में मुद्दे उठाए हैं। भविष्य में भी देश और समाज हित में हमेशा बोलता रहूंगा। वहीं, रवि किशन के नंबर वन सांसद बनने के बाद मंगलवार को गोरखपुर किन्नर अखाड़े की महामंडलेश्वर किरन नन्द गिरी उनके आवास पर उन्हें शुभकामना देने पहुंचीं।

Next Post

नवनिर्मित भवन राष्ट्र निर्माण में मील का पत्थर साबित होगा : मुख्यमंत्री चौहान

 भोपाल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज उज्जैन जिले के प्रवास के दौरान उज्जैन के ऋषि नगर में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नवनिर्मित कार्यालय भवन ‘छात्र-शक्ति’ का लोकार्पण किया। लोकार्पण कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि यह भवन राष्ट्र निर्माण में मील का पत्थर साबित […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।