आज हो सकता है बिहार चुनाव की तारीखों का ऐलान, EC ने दोपहर 12.30 बजे बुलाई पीसी

News Desk

पटना
बिहार में विधानसभा चुनाव का आज ऐलान होगा. चुनाव आयोग ने आज दोपहर 12.30 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई है. सूत्रों का कहना है कि बिहार में तीन चरण में चुनाव हो सकता है. पिछली बार पांच चरणों में चुनाव हुए थे. इस बार दिपावली से पहले विधानसभा का गठन किया जा सकता है. 

बिहार विधानसभा चुनाव, देश के लोकतांत्रिक इतिहास में सबसे अलग, अनूठे और चुनौतीपूर्ण होंगे. कोरोना संकट के कारण पहले तो विधानसभा चुनाव कराने का विरोध सभी विपक्षी पार्टियों ने किया, लेकिन जब निर्वाचन आयोग ने दृढ़ता से कहा कि चुनाव तय समय पर ही होंगे तो सब तैयारियों में जुट गए. कोरोना संकट आने के बाद देश में ये पहला चुनाव है लिहाजा निर्वाचन आयोग ने कोविड प्रोटोकॉल के मुताबिक, गाइडलाइन्स भी जारी की है. मतदान केंद्रों की तादाद भी डेढ़ गुना से ज्यादा बढ़ा दी गई है. मतदान कर्मियों की संख्या भी बढ़ाई गई है जबकि हर मतदान केंद्र पर मतदाताओं की तादाद घटा कर संख्या सीमित कर दी गई है.

सभी मतदान केंद्रों पर मतदाताओं को मास्क लगाकर और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करके आने को कहा गया है, लेकिन एहतियातन हरेक मतदान केंद्र पर मास्क, हैंडफ्री सेनेटाइजिंग और शरीर का तापमान मापने के इंतजाम किए जा रहे हैं. मतदान शुरू होने से पहले बूथ को पूरी तरह से सैनिटाइज कर डिसइनफेक्ट करने की भी सख्त हिदायत दी गई है.

Next Post

PUBG Mobile भारत में नहीं लौटेगा वापस, काम नहीं आएगा कोई 'जुगाड़'

नई दिल्ली भारत में लाखों प्लेयर्स की पसंद रहे बैटल रॉयल गेम PUBG Mobile को भारत सरकार की ओर से चाइनीज कनेक्शन होने के चलते बैन कर दिया गया है। इसके बाद से ही कयास लगाए जा रहे थे कि यह गेम भारत में वापसी कर सकता है और भारत […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।