राज्य में आज एक लाख 46 हजार से अधिक जरूरतमंदों को निःशुल्क भोजन व राशन..एक लाख 85 हजार मास्क और सेनेटाईजर वितरित..

Dilshad Ali

रायपुर

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के निर्देशन पर राज्य के सभी जिलों में गरीबों, अन्य स्थानों के श्रमिकों एवं निराश्रित लोगों को निःशुल्क भोजन व राहत पहुंचाए जाने का सिलसिला अनवतर रूप से जारी है। कोरोना संक्रमण के कारण लॉकडाउन के चलते जरूरतमंदों की मदद के लिए राज्य भर में जगह-जगह राहत शिविर लगाए गए हैं। इन शिविरों के माध्यम से सोमवार 6 अप्रैल को एक लाख 46 हजार 112 जरूरतमंदों, श्रमिकों एवं निराश्रितों को निःशुल्क भोजन व राशन उपलब्ध कराया गया। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए मास्क, सेनेटाइजर एवं दैनिक जरूरत का सामान भी जिला प्रशासन, रेडक्रॉस तथा स्वयंसेवी संस्थाओं की सहयोग से जरूरतमंदों को मुहैया कराया जा रहा हैं। जिलों से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार आज 6 अप्रैल को स्वयंसेवी संस्थाओं की मदद से एक लाख 84 हजार 633 मास्क एवं सेनेटाईजर, साबुन आदि का वितरण जरूरतमंदों को किया गया हैं।

प्रदेश में 6 अप्रैल को 28 जिलों में एक लाख 46 हजार 112 लोगों को निःशुल्क भोजन एवं राशन उपलब्ध कराने के साथ ही एक लाख 84 हजार 633 लोगों को आवश्यक मदद एवं मास्क आदि का वितरण किया गया है। शासन एवं समाजसेवी संस्थाओं के सहयोग से आज दुर्ग जिले में सर्वाधिक एक लाख 8 हजार 362 लोगों को निःशुल्क भोजन एवं राशन प्रदाय किए जाने के साथ ही उन्हें कोरोना संक्रामक बीमारी से सुरक्षित रखने के लिए मास्क एवं अन्य सामाग्री का वितरण किया गया है। इसी तरह सुकमा जिले में 10,657, राजनांदगांव में 15,217, रायगढ़ 1669, बस्तर में 27,336, कांकेर में 33,378, बीजापुर में 13, जशपुर में 1090, कोरिया में 21,372, सूरजपुर में 3356, बालोद में 2652, कबीरधाम में 974, बलौदाबाजार में 7389, धमतरी में 2130, महासमुंद में 831, बलरामपुर में 5485, कोरबा में 7646, सरगुजा में 2261, जांजगीर-चांपा में 1636, बिलासपुर में 6090, रायपुर में 16,677, कोण्डागांव में 2082, दंतेवाड़ा में 24,287, बेमेतरा में 75, गरियाबंद में 14,318, नारायणपुर में 859, मुंगेली में 11,672 तथा गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में 1231 जरूरतमंदों को निःशुल्क भोजन, राशन एवं अन्य सहायता उपलब्ध करायी गई हैं।

Next Post

अब यूएई एवं अन्य देशों से आने वालों का होगा कोरोना टेस्ट

रायपुर राज्य में कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम हेतु अब यूएई एवं अन्य देशों से छत्तीसगढ़ आने वाले लोगों का कोरोना टेस्ट प्राथमिकता से किया जाएगा। इसके साथ ही क्वॉरेंटाईन किए गए, उन लोगों का भी कोरोना टेस्ट होगा, जो बीते 28 दिनों की अवधि में ऐसे राज्यों से छत्तीसगढ़ […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।