LAC पर वायुसेना के विमानों की गर्जना से थर्राया इलाका, पायलट बोले- किसी भी दुस्‍साहस का देंगे मुंहतोड़ जवाब

News Desk

लद्दाख
लद्दाख में एलएसी पर जारी तनाव के बीच भारतीय वायुसेना अपनी तैयारियों को और धार दे रही है। इलाके के चप्‍पे चप्‍पे से रूबरू होते हुए भारतीय वायुसेना के विमान रात के अंधेरे में सन्‍नाटे को चीरते हुए आसमान में उड़ान भर रहे हैं। वास्‍तविक नियंत्रण रेखा (Line of Actual Control, LAC) पर तैनात भारतीय वायुसेना के जाबांज पायलट चीन के किसी भी दुस्‍साहस का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए मुस्‍तैद हैं। समाचार एजेंसी एएनआइ की टीम ने लेह एयरबेस का दौरा किया जहां वायुसेना सर्दियों की आहट के बीच अपनी तैयारियों को पुख्‍ता करने में जुटी हुई है। टीम ने देखा कि एयरबेस पर नियमित अंतराल से वायुसेना के ग्‍लोब मास्‍टर विमान उड़ान भर रहे हैं और रसद औश्र जरूरी सामानों की आपूर्ति को सुनिश्चित कर रहे हैं। आसमान में लड़ाकू विमान उड़ान भर रहे हैं जिनकी गर्जना से रह रह कर इलाका कांप जाता है।

समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक, वायुसेना के अपाचे अटैक, चिनूक हेवी-लिफ्ट हेलिकॉप्टर, सी -17 ग्लोबमास्टर, इल्यूशिन -76 और एंटोनियो-32 परिवहन विमान भी उड़ान भर रहे हैं। बीच बीच में लड़ाकू MIG-29 विमान अपनी गर्जना से आसमान को थर्रा रहे हैं। MIG-29 विमान के पायलट लेफ्ट‍िनेंट हरपभ सिंह कहते हैं कि वायुसेना हर तरह की परिस्थिति और खतरे से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है।  फ्लाइट लेफ्ट‍िनेंट नेहा सिंह जो चीता हेलिकॉप्‍ट (cheetah helicopters) को ऑपरेट करती हैं… उनका कहना है कि वायुसेना के फाइटर पायलट हर प्रतिकूल परिस्थितियों को बेहतर तरीके से संभालने के लिए पूरी तरह तैनात हैं। सर्दियों के महीने में हम बर्फबारी और कम दृश्यता जैसी नई चुनौतियों का सामना करेंगे लेकिन भारतीय वायुसेना हर तरह की चुनौतियों को मात देती रही है… हम भी इसके लिए तैयार हैं।

Next Post

मुख्यमंत्री चौहान ने 106 करोड़ से अधिक की 1584 संरचनाओं का लोकार्पण किया

 भोपाल  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा 106 करोड़ 4 लाख रुपये लागत से बनाई गई 1584 संरचनाओं का 11 अक्टूबर को वर्चुअल कार्यक्रम में लोकार्पण किया। चौहान ने इसी कार्यक्रम में कुछ जिलों के पंचायत प्रधानों से ग्रामों से संबंधित […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।