JK: आतंकियों के साथ मुठभेड़ में घायल 2 जवानों की मौत, JCO समेत अब तक 4 शहीद

News Desk

श्रीनगर
जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में घायल दो और जवानों की मौत हो गई है। इसके साथ ही ऑपरेशन में अब तक एक जेसीओ समेत चार जवान शहीद हो चुके हैं। मुठभेड़ अभी भी जारी है। गुरुवार देर शाम पुंछ के मेंधार इलाके में तीन आतंकियों की छिपे होने की सूचना मिलने पर सुरक्षा्बलों ने इलाके को घेर लिया था और सर्च अभियान शुरू किया था। रक्षा पीआरओ ने बताया कि आतंकियों के साथ जवानों का मुकाबला हुआ जिसमें दोनों तरफ से फायरिंग हुई। देर रात अभियान में एक जेसीओ और जवान आतंकियों से मुठभेड़ में शहीद हो गए थे। आतंक विरोधी इस कार्रवाई में दो जवाब राइफलमैन विक्रम सिंह और राइफलमैन योगम्बर सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए थे जिनका शुक्रवार को इलाज के दौरान निधन हो गया। 

बताया जा रहा है कि यह मुठभेड़ आतंकियों के उसी समूह से हो रही है जिसके साथ पिछले दिनों एक कार्रवाई में पांच जवान शहीद हो गए थे। सुरक्षाबल तब से इन्हें निशाने पर लेकर पीछा कर रहे हैं लेकिन आतंकी चकमा देकर बच निकलने में कामयाब हो जा रहे थे। गुरुवार को सटीक जानकारी मिलने पर जवानों ने आतंकियों को घेर लिया और कार्रवाई शुरू की है। सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर रखा है और बताया जा रहा है कि इलाके में 3 आतंकी छिपे हुए हैं।
मारा गया था जैश का कमांडर केंद्र शासित प्रदेश में पिछले कुछ दिनों में आतंकी वारदातों में तेजी आई है जिसके बाद सेना ने आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई तेज की है। बुधवार को अवंतीपोरा के त्राल इलाके में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता हाथ लगी थी जब जवानों ने मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के शीर्ष कमांडर शाम सोफी को ढेर कर दिया था। 

त्राल मुठभेड़ में मारा गया जैश का टॉप कमांडर शाम सोफी, सर्च ऑपरेशन जारी आईजीपी विजय कुमार ने बताया था कि सुरक्षाबलों के इलाके में आतंकियों के छिपे की सूचना मिली थी जिसके बाद ऑपरेशन चलाया गया था। जवानों को देखते ही आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में जवानों ने जैश के टॉप कमांडर को मार गिराया था। उसी दौरान से सेना ने पुंछ इलाके में भी सर्च अभियान चलाया हुआ था। 

Next Post

अगले 10 दिन में प्रदेश में 1300 मेगावाट बिजली उत्पादन बढ़ेगा

जबलपुर  कोयला संकट से जूझ रहे प्रदेश के पावर प्लांट को अगले 10 दिन में कोयले की पर्याप्त आपूर्ति मिलने की उम्मीद है। मप्र पावर जनरेशन कंपनी ने कोल कंपनियों से कोयला तेजी से उठाने के लिए परिवहन ठेका किया है। आपात हालात में कंपनी ने 50 करोड़ रुपये की […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।