मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक: पीएम मोदी ने सभी राज्यों के मिलकर एक साथ काम करने का मंत्र दिया

News Desk

 नई दिल्ली  
पीएम मोदी ने सभी से साथ मिलकर काम करने का आग्रह करते हुए कहा कि यदि राष्ट्र सामूहिक शक्ति के रूप में कोरोना से लड़ता है, तो संसाधनों की कोई कमी नहीं होगी। देश के कई राज्यों में ऑक्सीजन की किल्लत को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी मुख्यमंत्रियों से कहा कि वे ऑक्सीजन के परिवहन में कोई बाधा न आने दें। इसके साथ-साथ पीएम मोदी ने सभी राज्यों के मिलकर एक साथ काम करने का मंत्र भी दिया। 

11 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ हाई लेवल मीटिंग के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान जारी कर कहा कि पीएम ने सभी राज्यों को ऑक्सीजन की सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए कहा है। पीएम ने आगे कहा कि ऑक्सीजन टैंकर, चाहे वह किसी भी राज्य के लिए क्यों न हो, उनमें बाधा नहीं आनी चाहिए। बता दें कि पीएम मोदी ने पिछले पांच हफ्तें में मुख्यमंत्रियों के साथ तीसरी बार बैठक की है। 

यह बैठक उस समय हुई है जब कई राज्यों में कोरोना वायरस के मामलों में भारी वृद्धि देखने को मिली है। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच कई राज्यों ने अपने यहां ऑक्सीजन और दवाओं की कमी का मुद्दा केंद्र सरकार के सामने उठाया था। जिस पर पीएम मोदी ने कहा कि आपूर्ति बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। सरकार के सभी संबंधित विभाग और मंत्रालय एक साथ काम कर रहे हैं। औद्योगिक ऑक्सीजन को भी तत्काल आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए डायवर्ट किया गया है।

बैठक के दौरान, पीएम मोदी ने राज्यों से विभिन्न अस्पतालों में ऑक्सीजन ले जाने के लिए एक उच्च-स्तरीय समन्वय समिति गठित करने का आग्रह किया।  समिति यह सुनिश्चित करेगी कि जैसे ही केंद्र से ऑक्सीजन का आवंटन होता है, वह राज्य के विभिन्न अस्पतालों में आवश्यकता के अनुसार तुरंत ऑक्सीजन पहुंचा सके।

Next Post

ऑक्सीजन की व्यवस्था नहीं तो मरीज भर्ती न करें

 वाराणसी  बेड की समस्या आने वाले दिनों में बढ़ने वाली है, क्योंकि जिला प्रशासन की ओर से निजी अस्पतालों को स्पष्ट निर्देश दिया गया है कि ऑक्सीजन की उपलब्धता के हिसाब से बेड पर इलाज शुरू किया जाए। यह भी कहा गया है कि यदि ऑक्सीजन की खपत अस्पताल में […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।