बाजार में आया चांदी का मास्क, कीमत 5000 रुपये

News Desk

कोटा
 दुनिया वर्तमान में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से जूझ रही है। डब्ल्यूएचओ से लेकर केंद्र सरकार और राज्य सरकारें लोगों से अपील कर रही हैं कि कोविड-19 के संक्रमण से सुरक्षित रहना है तो बार-बार साबुन से हाथ धाेयें और जब घर से बाहर निकलें तो मुंह पर मास्क जरूर लगाएं। ऐसे में मास्क का कारोबार रफ्तार पकड़ रहा है। बाजार में तरह-तरह के मास्क नजर आने लगे हैं। सर्जिकल मास्क के साथ-साथ कपड़े के रियूजेबल और डिजाइनर मास्क भी लोग खूब पसंद कर रहे हैं। लेकिन अब डिजाइनर और फैशनेबल मास्क से आगे सिल्वर ज्वैलरी मास्क भी बाजार में आ गए हैं। जी हां, राजस्थान के कोटा शहर में ऐसे मास्क तैयार हो रहे हैं। यहां चांदी के आभूषणों का काम करने वाले एक कारोबारी ने अपने कारीगरों से चांदी के ये मास्क तैयार करवाए हैं। कारोबारी ऋषभ जैन की मानें तो चांदी के इस मास्क में उन्होंने एन-95 मास्क की तरह ही एक रेस्पिरेटर फिल्टर भी लगाया है। इससे से मास्क लगाने वालें को सांस लेने में आसानी रहती है। आने वाले वेडिंग सीजन को लेकर वो खासे उत्साहित है।

उन्हें अभी से कुछ व्यापारियों ऑर्डर भी मिलने लगे हैं। चांदी के मास्क की डिमांड आगे कितनी रहेगी या नहीं रहेगी इसके बारे में अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी। लेकिन कोटा के इस कारोबारी ने 10 मास्क तैयार कर लिए हैं और जल्द ही डिमांड के अनुसार प्रोडक्शन शुरू करने की बात कह रहे हैं। दरसअल, उन्हें कर्नाटक के बेंगलुरु से हाल ही सवा सौ मास्क का ऑर्डर भी मिल चुका है। ये सवा सौ मास्क उन्हें नवंबर तक सप्लाई करने हैं। ज्वैलर की मानें तो इस मास्क पर वो कुछ ज्यादा मुनाफा नहीं रख रहे हैं। चांदी के वजन और उसकी कारीगरी के बाद एक मास्क की कीमत उन्होंने 5000 रुपए रखी है। मास्क का वजन कुल 85 ग्राम है। इसे पहनने में लोगों को कोई असुविधा नहीं होती है, यह काफी कम्फर्टेबल है। इसके साथ ही जब कोरोना खत्म हो जाएगा, तब इसे वापस बेचा भी जा सकेगा। जबकि N-95 मास्क रोज पहनने पर खराब हो जाता है, जबकि उसकी कीमत करीब 200 रुपए हैं। ऐसे में 1 उसकी एक महीने की कीमत से भी कम रुपये में यह चांदी का मास्क खरीदा जा सकता है।

हालांकि प्रोटेक्शन के हिसाब से चांदी के इस मास्क को लेकर एक्सपर्ट का दावा कुछ अलग है। कोटा न्यू मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधीक्षक डॉक्टर चंद्रशेखर सुशील ने हमने चांदी के मास्क के बारे बात की। उन्होंने बताया कि चांदी के मास्क की उपयोगिता की पुष्टि टेस्टिंग के बाद ही पता चल सकेगी। बिना जांच के ऐसे मास्क को सिर्फ फैशन के तौर पर पहना जा सकता है। लेकिन N-95 मास्क प्रमाणित मास्क है। जबकि चांदी का मास्क जीवन सुरक्षा में उपयोगी नहीं हो सकता। अब देखना होगा कि आगे चांदी का ये मास्क जिंदगी बचाने में कितना खरा साबित होता।

Next Post

फिर से खोलें स्कूल नहीं तो रोका जाएगा फंड-डोनाल्ड ट्रंप

वॉशिंगटन घातक कोरोना वायरस के कहर के बावजूद अमेरिका में स्कूलों को फिर से खोलने का आदेश दिया गया है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को चेतावनी भरे लहजे में कहा कि यदि स्कूलों को फिर से नहीं खोला जाता है तो फंड रोक दिया जाएगा। ट्रंप ने साथ ही […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।