तमिलनाडु: कोरोना रिकवरी दर 86% के करीब, एक दिन में आए 6495 नए मरीज, 94 लोगों की मौत

News Desk

चेन्नई 
तमिलनाडु में कोरोना वायरस (कोविड-19) का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है और पिछले 24 घंटों के दौरान 6,495 नए मामले सामने आने से संक्रमितों की संख्या रविवार को बढ़कर 4.22 लाख के पार पहुंच गई, लेकिन राहत की बात यह है कि मरीजों के स्वस्थ होने की दर बढ़कर 86 फीसदी के करीब पहुंच गई है। इस दौरान 6406 और मरीजों के स्वस्थ होने से संक्रमण मुक्त लोगों की संख्या बढ़कर 3.62 लाख के पार पहुंच गई। इस दौरान राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 4,22,085 हो गई है। राज्य में इसी अवधि में 94 और मरीजों की मौत होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 7,231 हो गई है। वहीं, स्वस्थ हुए लोगों की संख्या बढ़कर 3,62,133 हो गई है। इसके साथ ही मरीजों के स्वस्थ होने की दर बढ़कर 85.79 फीसदी पहुंच गई, जो शनिवार को 85.59 प्रतिशत थी। राहत की बात यह है कि राज्य में रविवार को सक्रिय मामलों की संख्या में पांच की कमी दर्ज की गई। इसके साथ ही सक्रिय मामलों की संख्या घट कर 52,721 रह गई, जो शनिवार को 52,726 थी। गौरतलब है कि संक्रमण के मामले में तमिलनाडु महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश के बाद तीसरे स्थान पर पहुंच गया है, जबकि कोरोना मौत के मामलों में तमिलनाडु महाराष्ट्र के बाद दूसरे स्थान पर है।

तमिलनाडु में लॉकडाउन की मियाद 30 सितम्बर तक बढ़ी
दूसरी ओर, तमिलनाडु सरकार ने कोरोना संक्रमण के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर राज्य में रियायतों के साथ लॉकडाउन 30 सितम्बर तक बढ़ाए जाने की रविवार को घोषणा की। रियायतों के तहत ई-पास व्यवस्था बंद करने और मंदिरों को खोलने तथा सार्वजनिक यातायात एवं चेन्नई मेट्रो ट्रेन सेवाओं का एक सितम्बर से संचालन की भी घोषणा की गई है। मुख्यमंत्री ई. के. पलानीस्वामी ने यहां एक बयान में कहा कि सभी जिला कलेक्टरों, स्वास्थ्य विशेषज्ञों और विशेष मेडिकल पैनल के साथ शनिवार को बैठक में मिले सुझावों के मुताबिक यह निर्णय लिया गया है।

Next Post

वैनगंगा उफान पर, आफत की बाढ़ से चारों तरफ मचा कहर

बालाघाट 26 अगस्त की देर रात्रि से लेकर 29 अगस्त की प्रात: तक बालाघाट जिले में प्रारंभ हुई मूसलाधार बारिश और बाढ ने जिले के बालाघाट, लांजी, किरनापुर, लालबर्रा और कटंगी क्षेत्र में कहर बरपा दिया है। वहीं दूसरी ओर सिवनी जिले में भी भारी बारिश होने के चलते वैनगंगा […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।