कोरोना संक्रमितों ने अस्पताल में ऐसे मनाई दिवाली 

News Desk

 वड़ोदरा  
दिवाली का त्योहार 14 नवंबर को पूरे देश में उल्लास के साथ मनाया गया. इस बार की दिवाली हर बार की दिवाली से अलग रही. कोरोना वायरस महामारी के साए में दिवाली पर देश के कई इलाकों में आतिशबाजी प्रतिबंधित रही तो कई इलाकों में लोग प्रतिबंध के बावजूद जमकर आतिशबाजी करते नजर आए. इन सबके बीच बड़ी तादाद ऐसे लोगों की भी रही, जिनकी दिवाली अस्पताल में मनी.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, गुजरात के वडोदरा में भी कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों ने अस्पताल में ही डॉक्टर और चिकित्साकर्मियों के बीच दिवाली मनाई. वडोदरा के सयाजीराव गायकवाड़ अस्पताल के कोरोना वार्ड में भी दिवाली मनाई गई. इसका एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें कोरोना संक्रमित मरीज चिकित्साकर्मियों के साथ झूमकर दिवाली मनाते नजर आ रहे हैं.
 
 सर सयाजीराव गायकवाड़ कोविड -19 डेडिकेटेड सरकारी अस्पताल है. इस हॉस्पिटल के डॉक्टर और चिकित्साकर्मियों ने त्योहार पर कोरोना के कारण अपनों से दूर कोरोना का उपचार करा रहे लोगों के बीच दिवाली मनाई. कोरोना वार्ड में भर्ती स्टेबल मरीजों के साथ डॉक्टर और चिकित्साकर्मियों ने दिवाली मनाई.

कोरोना वायरस से संक्रमित होने के कारण ये लोग अपने घर, अपने परिजनों से दूर एसएसजी अस्पताल में उपचार करा रहे हैं. दिवाली के त्योहार पर घर से दूर रहने के कारण मायूसी लाजमी है. इनकी मायूसी और निराशा पल भर में दूर हो गई और इनके मायूस चेहरे पर तब मुस्कान छा गई, जब अस्पताल के चिकित्सक और चिकित्साकर्मी पहुंच गए और उनके साथ दिवाली मनाकर इसबार का त्योहार खास बना दिया.

संगीत की धुन बजी. सभी कोरोना संक्रमित और चिकित्साकर्मी उसपर झूमते नजर आए. मिठाई भी बांटी गई. मानव सूद और नागिन सोलंकी ने इस दिवाली को खास बताया. वहीं, एसएसजी हॉस्पिटल के कोरोना वार्ड की नोडल ऑफिसर डॉक्टर बेलिम ओबी और चिकित्सक डॉक्टर वैशाली मिस्त्री ने कहा कि घर से दूर अकेले उपचार करा रहे संक्रमितों के चेहरे पर खुशी आए, उन्हें ये लगे कि वे घर से दूर जरूर हैं लेकिन उनका पूरा ख्याल रखा जा रहा है.

डॉक्टर बेलिम ने कहा कि मरीजों को यह अहसास कराना ही उनके बीच दिवाली मनाने का मुख्य उद्देश्य था. उन्होंने कहा कि दिवाली प्रकाश का त्योहार है. इनकी जिंदगी से कोरोना का घोर अंधकार छंट जाए, इसी कामना के साथ कोरोना संक्रमितों के बीच पहुंचकर दिवाली मनाई गई.

Next Post

अब लिव इन पार्टनर को भी हेल्थ इंश्योरेंस

नई दिल्ली अमूमन हर कंपनी अपने कर्मचारियों के परिवार वालों को भी मेडिक्लेम का कवर देती है, लेकिन मॉन्डलीज इंडिया ने एक कदम आगे का प्लान बनाया है। मॉन्डलीज इंडिया ने अपने कर्मचारियों के लिव-इन-पार्टनर्स को भी मेडिक्लेम की सुविधा में कवर देने का फैसला किया है। कंपनी की यह […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।