करियर को बचने अपनी सेक्सुएलिटी छिपा रहे गे एक्टर्स-केट

News Desk

लंदन
हॉलीवुड एक्ट्रेस केट ने कहा कि वह ऐसे कई मशहूर हॉलीवुड अभिनेताओं को जानती हैं जो गे हैं और इस डर के चलते आज तक खुलकर सामने नहीं आए हैं. एक्ट्रेस ने कहा कि उन्हें डर है कि इससे उनका करियर पूरी तरह पटरी से उतर जाएगा और उन्हें इसके बाद स्ट्रेट सेक्स किरदार करने को नहीं मिलेंगे.

केट ने बताया कि कलाकारों को डर है कि उनकी सेक्सुएलिटी की वजह से उनका करियर तबाह हो जाएगा. "मैं आपको आंकड़ा नहीं बता सकती कि मैं ऐसे कितने युवा कलाकारों को जानती हूं. कुछ तो बहुत मशहूर हैं, और कुछ अभी शुरुआती दौर में हैं. उन्हें डर है कि उनकी सेक्सुएलिटी सबके सामने आ जाएगी और ये उन्हें स्ट्रेट रोल्स के लिए कास्ट किए जाने के आड़े आएगी."

 

 

 

 

 

 

 

 

 

केट ने बताया कि मैं अभी कम से कम चार कलाकारों के बारे में सोच पा रही हूं जिन्होंने अपनी सेक्सुएलिटी छिपा रखी है. ये बहुत दर्दनाक है क्योंकि वो डरे हुए हैं कि उनका सच सामने आ जाएगा. और उनसे बात करने पर वो यही कहते हैं कि वो नहीं चाहते कि वो सबके सामने आ जाएं. केट ने ये भी बताया कि इस तरह का डर अधिकतर पुरुषों में बैठा हुआ है.

निजी कारणों से भी सच छिपा रहे कलाकार

उन्होंने कहा कि ये खौफ ज्यादातर गे कलाकारों में है कि सामने आ जाने पर उन्हें स्ट्रेट किरदार करने को नहीं मिलेंगे. ये डर आज तक कायम है. उन्होंने कहा कि इसे अवैध किया जाना चाहिए. आपको इस बात का अंदाजा भी नहीं है कि ये डर कितने व्यापक ढंग से फैला हुआ है. केट ने बताया कि कई कलाकारों के पास अपने निजी कारण हैं लोगों के सामने खुलकर नहीं आने के और ऐसे कलाकारों से लोगों का इससे कोई लेना देना नहीं होना चाहिए.

 

Next Post

SC के मुख्य न्यायाधीश एसए बोबड़े ने बुलाई कॉलेजियम की बैठक

नई दिल्ली सुप्रीम कोर्ट के दो न्यायाधीशों ने सीजेआई एसए बोबड़े द्वारा गुरुवार को शीर्ष अदालत में नियुक्ति के लिए संभावित उम्मीदवारों पर चर्चा के लिए बुलाई गई कॉलेजियम की बैठक पर आपत्ति जताई है। उनका तर्क है कि चूंकि भारत के राष्ट्रपति द्वारा नए सीजेआई की नियुक्ति के आदेश […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।