घर में आने वाली Income के रास्ते की रुकावट होती हैं ये दिशाएं

News Desk

वास्तुशास्त्र में दक्षिण, उत्तर-पूर्व और उत्तर-पश्चिम दिशा को पैसों वाली दिशा माना जाता है। इसके अनुसार घर की इन दिशाओं में दोष होने से वहां रहने वाले लोगों को हमेशा आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। खास तौर पर अगर किचन, बेडरूम, अंधेरा, दरवाज़ा और तिजाेरी हो ऐसा होता है। इसके अलावा इन जगहों पर गंदगी और भारी सामान रखने से पहले वास्तु शास्त्र की कुछ बातें ध्यान रखनी बहुत ज़रूरी होती।

  • वास्तु में उत्तर-पूर्व को धन आगम की दिशा माना गया है। इस दिशा में भारी सामान या गंदगी होने से धन हानि होती है और घर में पैसा नहीं टिक पाता।
  • उत्तर-पश्चिम दिशा में अंधेरा नहीं होना चाहिए। इस दिशा का सीधा संबंध पैसों से होता है। घर के इस काेने में अंधेरा होने से लक्ष्मी घर से चली जाती है।
  • वास्तु के अनुसार दक्षिण को यम की दिशा माना गया है। इस दिशा में तिजोरी या दरवाजा होने से दोष लगता है। ऐसा होने से उस घर में लक्ष्मी नहीं रहती।
  • घर के बड़े व्यक्ति का कमरा दक्षिण-पूर्व दिशा में नहीं होने से उस घर में आर्थिक परेशानियां आती रहती है।
  • उत्तर-पूर्व दिशा में किचन होने से उस घर की आर्थिक स्थिति गड़बड़ाने लगती है। इसके साथ ही घर में बीमारियों पर पैसा खर्च होने लगता है।
Next Post

कोरिया में 145 गौठानों में होगा गोधन न्याय योजना का शुभारंभ

कोरिया राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के ग्रामीण विकास के जरिए उन्नति की संकल्पना को साकार करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य में नरवा, गरुवा, घुरवा और बाड़ी योजना की शुरूआत की गई थी। इस योजना का उद्देश्य छत्तीसगढ़ी परंपरा को संजोते हुए ग्रामीण जनता को आर्थिक रूप से […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।