36 हजार करोड़ का बहु चर्चित नान घोटाला:SIT गठन के बाद ईओडब्ल्यू ने चिंतामणि को गिरफ्तार किया

Dilshad Ali

रायपुर। 36 हजार करोड़ का नान घोटाला उजागर होने के मामले में नान रायपुर आफिस में एकाउंट आफिसर चिंतामणि को ई ओ डब्ल्यू ने गिरफ्तार कर लिया है। नान मामले में लाल डायरी में चिंतामणि का नाम कोड वर्ड में कई जगह सीएम साहब लिखा हुआ था। सीएम साहब को इस डेट में इतना पैसा दिया गया तो इस तारीख को इतना। नान के मुख्य आरोपी शिवशंकर भट्ट ने दो रोज पहिले जो शपथ पत्र दिया, उसमें भी चिंतामणि का जिक्र था।


नान मामले की एसआइटी गठित होने के बाद ईओडब्लू की टीम ने सबसे पहले चिंतामणि के ठिकानों पर दबिश देकर बड़े पैमाने पर अवैध संपति का पर्दाफाश किया था। रायपुर, दुर्ग, कांकेर से लेकर बंगलोर तक में चिंतामणि के नाम से प्लाट और मकान मिले थे।
हालांकि, मामला हाईप्रोफाइल होने केे कारण चिंतामणि को दुर्ग से रायपुर लाया गया है। और, उससे पूछताछ चल रही है।

Next Post

गणेश विर्सजन: रायपुर पुलिस द्वारा प्रस्तुत की गई ‘‘हर हेड हेलमेट‘‘ की झांकी

रायपुर। पुलिस उप महानिरीक्षक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरिफ एच शेख निर्देश में रायपुर पुलिस द्वारा स्वतंत्रता दिवस व रक्षाबंधन के अवसर पर ‘‘हर हेड हेलमेट‘‘ अभियान चलाया गया था जिसके तहत लगभग 15,000 से अधिक हेलमेट आम लोगों को रायपुर पुलिस द्वारा वितरित किये गये थे। इसी विषय के […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।