इंजीनियर पति को छुड़ाने जंगल की ओर बच्चे को लेकर जंगलों में घूम रही पत्नी.. रिहाई के लिए नक्सलियों से लगाई गुहार…

Kajal Lodhi

बीजापुर

बीजापुर में सड़क निर्माण का निरीक्षण करने गए एक इंजीनियर को नक्सलियों ने अगवा कर लिया. उनके साथ में एक चपरासी भी था. दोपहर एक बजे निकलने के बाद देर तक न लौटने पर उनकी तलाश की गई, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला. अब इंजीनियर की तलाश में उनकी पत्नी अपने बच्चे को लेकर जंगल निकल पड़ी है. इतना ही नहीं, उन्होंने नक्सलियों से गुहार लगाई है कि वह उनके पति को सकुशल छोड़ दें.

इंजीनियर पति को छुड़ाने जंगल की ओर निकली पत्नी, नक्सलियों ने किया है अगवा | The wife went to the forest to rescue the engineer husband, the Naxalites have kidnapped | इंजीनियर

बीजापुर में सड़क निर्माण का निरीक्षण करने गए एक इंजीनियर को नक्सलियों ने अगवा कर लिया. उनके साथ में एक चपरासी भी था. दोपहर एक बजे निकलने के बाद देर तक न लौटने पर उनकी तलाश की गई, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला. अब इंजीनियर की तलाश में उनकी पत्नी अपने बच्चे को लेकर जंगल निकल पड़ी है. इतना ही नहीं, उन्होंने नक्सलियों से गुहार लगाई है कि वह उनके पति को सकुशल छोड़ दें.

PMGSY Engineer Kidnapping Case; Peon Released By Maoists In Chhattisgarh Bijapur | सब इंजीनियर अब भी कब्जे में, पति को तलाशने बच्चे को लेकर जंगलों में घूम रही पत्नी; रिहाई की मांग -

जानकारी के अनुसार गुरुवार की दोपहर मनकेली गोरना गांव से सड़क निरीक्षण पर निकले सब इंजीनियर अजय रोशन लकड़ा और भृत्य लक्ष्मण परतागिरी को नक्सलियों ने अगवा कर लिया था, कल रात नक्सलियों ने भृत्य लक्ष्मण को रिहा कर दिया, लेकिन सब इंजीनियर अब भी नक्सलियों के कब्जे में है।

PMGSY Engineer Kidnapping Case; Peon Released By Maoists In Chhattisgarh Bijapur | सब इंजीनियर अब भी कब्जे में, पति को तलाशने बच्चे को लेकर जंगलों में घूम रही पत्नी; रिहाई की मांग -

आज सुबह तक भी नक्सलियो द्वारा सब इंजीनियर अजय रोशन को रिहा नही करने के चलते सब इंजीनियर की धर्मपत्नी अर्पिता रोशन अपने पति को नक्सलियो से रिहाई के लिए स्थानीय मीडिया कर्मियों के साथ मानकेलि गोरना गांव के लिए रवाना हुई है। अर्पिता ने मनकेली गोरना इलाके में जाने से पहले मीडिया के माध्यम से नक्सलियों से अपील की है कि नक्सली उनके पति को रिहा करें और उन्हें किसी तरह का नुकसान न पहुंचाएं।

नक्सलियों ने प्यून को साइकिल देकर किया रिहा
बताया जा रहा है कि नक्सलियों ने बंधक बनाए गए प्यून लक्ष्मण परतगिरी को साइकिल दी और कहा अब तुम जाओ। लक्ष्मण ने सब इंजीनियर को भी छोड़ने को कहा लेकिन नक्सली नहीं मानें। सूत्र बतातें हैं कि इन दोनों का अपहरण करने के बाद नक्सली इन्हें अलग-अलग जगहों पर बंधक बना कर रखे हुए थे।

इंजीनियर अजय रोशन और लक्ष्मण परतगिरी का नक्सलियों ने अपहरण किया था।

सड़क निर्माण का जायजा लेने गए थे दोनों
बीजापुर जिले के धुर नक्सल प्रभावित इलाके गोरना गांव में करोड़ों रुपए की लागत से सड़क निर्माण का काम चल रहा है। यह इलाका पूरी तरह से नक्सलियों का गढ़ है। इसी सड़क निर्माण काम का जायजा लेने के लिए गुरुवार को PMGSY के सब इंजीनियर अपने साथ विभाग के प्यून को लेकर गए थे। यहीं से नक्सलियों ने दोनों का अपहरण किया था।

Next Post

पाकिस्तान में रहस्यमयी बुखार ने फैलाई सनसनी, कराची में अफरातफरी, समझ नहीं पा रहे डॉक्टर

कराची पाकिस्तान के कराची शहर में रहस्यमयी बुखार ने लोगों को परेशान कर दिया है और अस्पतालों में भारी भीड़ देखने को मिल रही है, जबकि डॉक्टरों को तमाम जांच के बाद भी बुखार को लेकर ज्यादा कुछ पता नहीं चल पा रहा है। डॉक्टरों का कहना है कि, इस […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।