राजधानी हॉस्पिटल प्रबंधन मृतक के परिजनों को दे 10-10 लाख का मुआवजा – कन्हैया

News Desk

रायपुर
सत्यमेव जयते फाउंडेशन के प्रदेश संयोजक कन्हैया अग्रवाल ने पचपेड़ी नाका स्थित राजधानी हॉस्पिटल में आगजनी की घटना में मृतकों के परिवार वालों को अस्पताल प्रबंधन के द्वारा 10 -10 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग करते हुए कहा कि अस्पताल में पिछले 4 वर्षों से फायर सेफ्टी सिस्टम का कोई प्रमाण पत्र प्राप्त ही नहीं किया गया। फायर सेफ्टी सिस्टम पूरी तरह फेल था यह विभाग के ही अधिकारियों का कहना है, इससे स्पष्ट है की जरूरी सुविधाओं के अभाव के बावजूद सांठगांठ कर अस्पताल को दनादन अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी किए गए।

सत्यमेव जयते फाउंडेशन ने राजधानी अस्पताल प्रकरण से सबक लेते हुए अन्य हॉस्पिटलों में नर्सिंग होम एक्ट का पालन हो रहा है या नहीं इसकी पुख्ता जांच के साथ ही जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग की है। फाउंडेशन के प्रदेश संयोजक कन्हैया अग्रवाल ने कहा कि प्रबंधन और प्रबंधन को संरक्षण देने वाले लोगों के कारण वह हादसा हुआ जिसमें 07 लोगों की जान जा चुकी है अत: भविष्य में ऐसे हादसे ना हो इसलिए सभी संबंधित है के खिलाफ भी आवश्यक कार्रवाई की आवश्यकता है।

Next Post

घुटकू में दूध के डिब्बे में कर रहे थे शराब की तस्करी.. आरोपी गिरफ्तार..युवकों के खिलाफ आबकारी एक्ट के तहत कार्रवाई...

बिलासपुर कोनी पुलिस ने घुटकू के घानापारा में दो युवकों को दूध के डिब्बे में शराब ले जाते पकड़ा है। पुलिस ने आरोपित युवकों के कब्जे से 10 लीटर महुआ शराब जब्त कर आबकारी एक्ट के तहत कार्रवाई की है। कोनी थाना प्रभारी रविंद्र यादव ने बताया कि रविवार की […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।