ब्रेकिंग: बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन 5 मई तक, कलेक्टर-SP लागू करेंगे कड़ाई और छूट संबंधी आदेश…

Dilshad Ali

रायपुर

छत्तीसगढ़ में कोरोना थमने का नाम नहीं ले रहा है। अभी भी जो आंकड़े प्रदेश के विभिन्न जिलों से सामने आ रहे हैं, वह बेचैन और परेशान करने वाले हैं। आज इसी संबंध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल समेत मंत्रिमंडल के महत्वपूर्ण सदस्यों के साथ वर्चुअल समीक्षा बैठक भी की है। इसके बाद ताजा खबर यह आ रही है कि छत्तीसगढ़ में 5 मई तक लॉकडाउन बढ़ाए जा सकते हैं। इस बार कुछ राहत बढ़ सकती है, लेकिन यह कलेक्टर तय करेंगे। लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण को रोकने की कवायद मे लगी राज्य सरकार अलग-अलग जिलों में लागू लॉकडाउन 5 मई तक बढ़ा सकती है। जानकारी मिली है कि संक्रमण को देखते हुए केन्द्र सरकार ने भी ऐसा सुझाव छत्तीसगढ़ सरकार को दिया है।

हालांकि यह भी जानकारी सूत्रों मिल रही है कि अगर ऐसा हुआ, तो छूट और कड़ाई के संबंध में अपने जिलों के हिसाब से कलेक्टर ही लॉकडाउन तय करेंगे।

गौरतलब है कि गुरूवार को राज्य में 16 हजार 750 नए केस सामने आए थे, वहीं पहली बार राज्य में एक दिन में सर्वाधिक 207 मरीजों की मौत हुई थी। एक्सपर्ट कहते हैं कि राज्य में शहरों से लेकर गांवों तक इसकी जोरदार चपेट में हैं। लिहाजा हालात सामान्य होने में थोड़ा वक्त लगेगा। केंद्र सरकार के साथ हुई वीडियो कांफ्रेंसिंग में भी राज्य में बढ़ते संक्रमण दर पर चिता जाहिर की गई। बताते हैं कि इस दौरान ही केंद्र ने आंकड़ों के आधार पर संक्रमण चेन तोड़ने लॉकडाउन आगे बढ़ाये जाने का सुझाव दिया।

संकेतों के तहत 5 मई तक लॉकडाउन बढ़ाए जाने के हालात में जिला कलेक्टरों को कुछ राहत दिए जाने का आदेश है। बताया जा रहा है कि गैस सिलेंडर की होम डिलीवरी इस दौरान जारी रखी जा सकती है। वहीं अमेजन, फ्लिपकार्ट जैसे ई-कामर्स के जरिए डिलीवरी में छूट दी जा सकती है। लेकिन दुकानें खोले जाने पर पूरी तरह प्रतिबंध रखा जा सकता है। फैक्टरी के भीतर या कंस्ट्रक्शन साइट पर काम इस शर्त के साथ जारी रखने के संकेत हैं कि मजदूरों के रहने की व्यवस्था परिसर के भीतर करनी होगी। तमाम व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी कलेक्टर और एसपी पर होगी।

Next Post

पीएम मोदी की मीटिंग: दिल्ली के लिए भी चले ऑक्सीजन एक्सप्रेस: CM केजरीवाल 

नई दिल्‍ली देश की राजधानी दिल्‍ली भी बढ़ी अचानक कोरोना मरीजों की बढ़ी संख्‍या के कारण आक्‍सीजन की जबरदस्‍त किल्‍लत से जूझ रहा है। कोरोना महामारी के संकट के बीच राज्‍यों के अस्‍पतालों में आक्‍सीजन की भारी कमी हो गई है।  दिल्‍ली सीम अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से शुक्रवार […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।