कोरोना के मामले बढ़ने के साथ तेजी से बढ़ी रेमडेसिविर की कालाबाजारी, इंजेक्शन बेचते MMI का नर्सिंग स्टाफ गिरफ़्तार….

Dilshad Ali

रायपुर

राजधानी में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी दिनों दिन बढ़ती ही जा रही है।वहीं सायबर पुलिस ने एमएमआई के एक कर्मचारी को गिरफ्तार किया है। आरोपी के पास से पुलिस ने दो इंजेक्शन सहित 20 हजार नगदी जब्त की है।
जानकारी के मुताबिक सायबर सेल की टीम को जानकारी मिली थी कि एक युवक राजेन्द्र नगर इलाके में कोरोना संक्रमित के परिजनों से मोटी रकम लेकर रेमडेसिविर इंजेक्शन बेच रहा है।  मुखबिर से मिली सूचना के बाद पुलिस ने देर शाम आरोपी को एमएमआई हास्पिटल के आगे प्रोग्रेसिव पॉइंट के पास गिरफ़्तार किया गया। आरोपी के पास से दो नग रेमडेसिविर इंजेक्शन भी बरामद किया गया है। आरोपी ने पूछताछ में अपना नाम चंद्रकुमार जांगडे, एमएमआई अस्पताल में नर्सिंग स्टाफ होना बताया है। साथ ही आरोपी ने एक इंजेक्शन को 18-18 हजार में बेचने की बात भी कबूल कर ली है।फिलहाल पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर उससे रेमडेसिविर इंजेक्शन के संबंध में पूछताछ कर रही है।

Next Post

31 मई तक बढ़ा अंतरराष्ट्रीय यात्री विमानों की आवाजाही पर लगा प्रतिबंध 

नई दिल्ली देशभर में फैली कोरोना वायरस महामारी से रोजाना तीन हजार से अधिक लोग अपनी जान गंवा रहे है, जबकि एक्टिव मरीजों की संख्या 30 लाख के पार पहुंच गई है। भारत और राज्य सरकारों ने कोरोना के प्रसार पर काबू पाने के लिए कई कदम उठाए लेकिन अब […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।