राजधानी रायपुर के युवक ने ओलेक्स में देखा पुरानी स्विफ्ट डिजायर कार..खरीदने के चक्कर में हो गया 1 लाख 20 हजार रुपये ठगी का शिकार..

News Desk

रायपुर
पुरानी कार लेने के चक्कर में राजेंद्र नगर का रहने वाला युवक 1 लाख 20 हजार रुपये ठगी का शिकार हो गया। ओलेएक्स में कार बेचने का विज्ञापन देखकर उसने आरोपी से किया था। सौदे का पूरा पेंमेंट करने के बाद भी जब कार व आरोपी से संपर्क नहीं हुआ तब कहीं जाकर उसने राजेंद्र नगर थाने ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ ठगी का मामला दर्ज करवाया।

न्यू राजेन्द्र नगर निवासी 26 वर्षीय अश्वनी पांडेय ने आठ अक्टूबर को ओलेएक्स कंपनी की वेबसाइट पर दिए गए नंबर पर फोन किया। दूसरी तरफ से बात करने वाले व्यक्ति ने अपना नाम वीएस कृष्णा बताया। अश्वनी ने उससे बेची जा रही स्विफ्ट डिजायर गाड़ी की जानकारी ली। इसके बाद आरोपी ने प्रार्थी को गाड़ी की फोटो भेजी। पीड़ित ने गाड़ी की फोटो देखने के बाद कार को खरीदने का सौदा किया। आरोपी ठग ने उसे हैदराबाद में होने का झांसा देकर आनलाइन पेमेंट के लिए कहा।

पीड़ित ने पांच हजार रुपये का आनलाइन पेमेंट कर दिया। एक घंटे बाद आरोपित ने फोन कर पूरी पेमेंट देने के लिए कहा, जिस पर पीड़ित ने 30 हजार रुपये की पेमेंट कर शेष राशि अगले दिन देने की बात कही। अगले दिन आठ अक्टूबर को आरोपी ने फिर फोन किया और कहा कि गाड़ी की बिल्टी आर्मी कैंप लिखी हुई तैयार है और उसका फोटो भेज दिया।

बिल देखकर नौ अक्टूबर को पीड़ित ने बाकी के 90 हजार रुपयों को किस्तों में ट्रांसफर कर दिया। इस तरह पीड़ित ने आरोपी ठग को एक लाख 20 हजार रुपये की आनलाइन पेमेंट कर दी। पूरी पेमेंट करने के बाद भी जब गाड़ी नहीं आई और न ही दोबारा आरोपी ठग से उसका संपर्क नहीं हो पाया, तब उसे ठगे जाने का अहसास हुआ। इसके बाद वह राजेंद नगर थाने पहुंचा और अज्ञात आरोपी के खिलाफ ठगी का मामला दर्ज करवाया।

Next Post

महिला को हरियाणा में बेचने वाले आरोपी डोंगरगढ़ से गिरफ्तार

राजनांदगांव डोंगरगढ़ के एक संभ्रात परिवार की महिला को दूसरी महिला ने अपनी जाल में फंसाया और फिर उसके बाद उसे रायपुर लेकर आए और हवाई जहाज के माध्यम से दिल्ली ले गए जहां आरोपी शुभम तिवारी ने उसके साथ दुष्कर्म किया। उसके बाद हरियाणा में उसे बेच दिया, जहां […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।