सरपंच पति की नक्सलियों ने पीट-पीटकर कर दी निर्मम हत्या

News Desk

राजनांदगांव
मानपुर के नक्सल प्रभावित गांव परदोनी के सरपंच पति की नक्सलियों ने पीट-पीटकर कर निर्मम हत्या कर दी। घटना बुधवार और गुरुवार की दरमियानी रात की है, जब आठ से दस नक्सली परदोनी गांव पहुंचे और सरपंच पति को घर से ले जाकर जंगल में उसकी हत्या कर दी। नक्सलियों ने घटना स्थल पर पर्चा भी छोड़ा है, जिसमें मुखबिरी करने के कारण मौत की सजा देने की बात लिखी है। गुरुवार सुबह स्वजन ढूंढते हुए जंगल की ओर पहुंचे, तो उसका शव मिला। ग्रामीणों ने पुलिस को घटना की जानकारी दी।

मिली जानकारी के मुताबिक पुरदौनी के सरपंच सोनारो सलामे के पति मैनूराम सलामे परिवार के साथ बुधवार देर शाम को भोजन करने के बाद घर में सोने की तैयारी कर रहे थे। इसी बीच नक्सलियों का एक दल वहां पहुंच गया। बताया जाता है कि आते ही नक्सलियों ने मैनूराम को घर से घसीटकर बाहर निकाला और उसके बाद उसकी बेदम पिटाई शुरू कर दी। पिता को पीटते हुए देखकर बच्चों ने नक्सलियों के सामने हाथ-पैर जोड़े, लेकिन उनका मन नहीं पसीजा। बताया जाता है कि परिवार के सामने मैनूराम सलामे की नक्सलियों के हाथों मार खाते हुए  जान चली गई। इस घटना से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई। पखवाड़ेभर के भीतर यह दूसरी नक्सल हत्या की वारदात है। करीब कुछ दिन पहले मानपुर के तातापानी इलाके में महेश कचलाम युवक की भी मुखबिरी के शक पर हत्या हुई थी। बताया जा रहा है कि नक्सलियों ने मई 2020 में पुरदौनी गांव में हुए पुलिस मुठभेड़ में 4 नक्सलियों के मारे जाने के पीछे  मैनूराम सलामे पर मुखबिरी करने का आरोप लगाया है। नक्सली-पुलिस मुठभेड़ में फोर्स ने 4 हार्डकोर नक्सलियों को ढेर कर दिया था। इस मुठभेड़ में मदनवाड़ा के तत्कालिन थाना प्रभारी श्यामकिशोर शर्मा शहीद हुए थे।

बताया जा रहा है कि वारदात से बौखलाए नक्सलियों ने लंबे समय तक अपने स्तर पर घटना से जुड़े तथ्यों को खंगाला। सूत्रों का कहना है कि मृतक मैनूराम सलामे को पुलिस ने सावधान किया था। घने जंगल में बसे होने के कारण पुलिस सुरक्षा देने में नाकाम रही। बताया जा रहा है कि नक्सलियों ने वारदात करते हुए मृतक के ट्रैक्टर को भी आग से जलाने की कोशिश की। नक्सल पर्चे में साफ तौर पर पुरदौनी में हुए घटना के लिए नक्सलियों ने मैनूराम सलामे को जिम्मेदार ठहराया है। पर्चे में जनता की सलाह से मौत की सजा देने का उल्लेख है। भाकपा माओवादी आरकेबी  डिवीजन कमेटी द्वारा फेंके गए पर्चे में महेश कचलाम की भी हत्या करने की बात लिखी हुई है। बहरहाल नक्सलियों ने एक बार फिर मानपुर इलाके में ग्रामीणों की हत्या करना शुरू कर दिया है। मृतक की पत्नी सोनारा सलामे के मुताबिक 10-20 सशस्त्र नक्सलियों ने उसके पति की जघन्य हत्या की है। एसपी डी. श्रवण ने कहा कि घटना की जांच की जा रही है। पुलिस का मृतक के परिजनों कोई वास्ता नहीं है।

Next Post

सैयद मुश्ताक अली ट्रोफी उत्तर प्रदेश से जीता जम्मू-कश्मीर

बेंगलुरु आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेलने वाले अब्दुल समद के नाबाद 54 रनों की पारी के दम पर जम्मू-कश्मीर ने गुरुवार को बेंगलुरु के केएससीए क्रिकेट ग्राउंड पर खेले गए सैयद मुश्ताक अली ट्रोफी टी-20 टूर्नमेंट के एलीट ग्रुप-ए मैच में उत्तर प्रदेश को आठ विकेट से हरा […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।