सब इंस्पेक्टर ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर किया नाबालिग का गैंगरेप

News Desk

कांकेर. छत्तीसगढ़ का कांकेर किसी ने किसी वजह से हमेशा सुर्खियों रहता है और इस बार कांकेर कोतवाली वजह बनी है, जो कि बेहद हैरान करने वाली खबर है. दरअसल कांकेर कोतवाली में पदस्थ एक सब इंस्पेक्टर पर अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर होली के दिन नाबालिग के साथ गैंगरेप (का आरोप लगा है.जानकारी के मुताबिक, घटना को अंजाम देने के बाद पीड़िता को बेहोशी की हालत में छोड़ तीनों फरार हो गए थे. यही नहीं, तीनों को सहयोग करने वाली एक महिला ने पीड़िता के होश आने पर धमकी देकर भगा दिया. पीड़िता किसी तरह अपने घर पहुंची और घटना की जानकारी अपने दोस्तों को दी.

गैंगरेप की घटना के बाद 4 अप्रैल को पीड़िता ने मामला दर्ज कराया था. इसके बाद पुलिस ने महिला समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. जबकि आरोपी सब इंस्पेक्टर अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है और फरार बताया जा रहा है. आरोपी एसआई किशोर तिवारी की पुलिस तलाश कर रही है.

कांकेर कोतवाली में पदस्थ एसआई किशोर तिवारी पर अपने 2 साथियों के साथ मिलकर गैंगरेप का आरोप लगा है. पुलिस ने नाबालिग से गैंगरेप के मामले में एसआई के दोनों साथियों विकास हिरदानी और मनोज सिंह ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने एक अन्य महिला सहयोगी को भी गिरफ्तार किया है. जबकि एसआई किशोर तिवारी पुलिस की पकड़ से बाहर है. इस मामले ने पुलिस विभाग पर भी सवाल खड़ा कर दिया है. हालांकि पुलिस अधिकारी गंभीरता से इसकी जांच में जुट गए हैं.

आपको बता दें पीड़िता के सप्ताह भर बाद एफआईआर दर्ज कराने के पीछे आरोपियों का उसे जान से मारने की धमकी देना बताया गया है. पुलिस ने 3 आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है. महिला को वारदात में सहयोग कर आरोपियों को संरक्षण देने का आरोपी बनाया है. पुलिस ने मामला दर्ज होने के बाद 4 अप्रैल को देर रात तक आरोपी विकास हिरदानी, मनोज सिंह ठाकुर और महिला को गिरफ्तार कर रिमांड पर जेल भेज दिया. एडिशनल एसपी गोरखनाथ बघेल ने फरार आरोपी एसआई किशोर तिवारी को लेकर कहा कि आरोपी की सघन तलाशी जारी है उसे जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

Next Post

 देश में वैक्सीन स्टॉक की कोई कमी नहीं: स्वास्थ्य मंत्री

 नई दिल्ली  महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस वैक्सीन की कमी से केंद्रीय स्वास्थ्य हर्षवर्धन मंत्री ने इनकार किया है। हर्षवर्धन ने बुधवार को कहा कि देश में वैक्सीन स्टॉक की कोई कमी नहीं है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री का यह बयान महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे के बयान […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।