राहत आयुक्त ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आपदा प्रबंधन कार्यों की समीक्षा की

News Desk

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन की राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग की सचिव एवं राहत आयुक्त सुश्री रीता शांडिल्य ने आज मंत्रालय महानदी भवन से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से रायगढ़, राजनांदगांव, रायपुर एवं सुकमा के आपदा प्रबंधन के नोडल अधिकारियों से आपदा मित्र योजना, जिला आपदा प्रबंधन योजना, जिला अग्नि सुरक्षा योजना और लू से बचाव एवं प्रबंधन की विस्तृत जानकारी ली। उन्होंने जिला स्तर पर राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत एनडीएमआईएस पोर्टल में पंजी सहित अन्य आपदा प्रबंधन की गतिविधियों की जानकारी ली।
सचिव द्वारा संबंधित जिलों के अधिकारियों से आपदा मित्र योजना के क्रियान्वयन हेतु आपदा मित्र स्वयं सेवकों का शीघ्र चयन कर 15 अप्रैल 2021 तक जानकारी राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग को प्रेषित करने के निर्देश दिए गए है। उन्होंने आपदा मित्र योजना के अंतर्गत स्काउट एवं गाईड, एन.सी.सी, एन.एस.एस. तथा नेहरू युवा केन्द्र के स्वयं सेवकों को जोड?े एवं ज्यादा से ज्यादा महिलाओं की भागीदारी के निर्देश दिए हैं।

Next Post

Indore हाई कोर्ट में अगले आदेश तक वीडियो कांफ्रेंसिंग से सुनवाई

इंदौर  हाई कोर्ट में फिलहाल आमने-सामने की सुनवाई नहीं होगी। वकीलों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से ही अपनी बात कोर्ट के समक्ष रखना होगी। बार एसोसिएशनों ने इस संबंध में चीफ जस्टिस को पत्र लिखा था। इसके बाद रजिस्ट्रार जनरल राजेंद्र कुमार वानी ने इस संबंध में आदेश जारी […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।