रायपुर में ट्रैफिक का ग्रीन सिग्नल संकेत है कि हालात अब ठीक हैं!

News Desk

रायपुर
छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में लॉकडाउन का सन्नाटा टूटता हुआ दिखाई दे रहा है. रायपुर में अप्रैल माह में कोरोना वायरस के संक्रमण का एक भी मरीज नहीं मिला. 20 अप्रैल से यहां लॉकडाउन में सशर्त ढील भी दे दी गई है. ऐसे में लॉकडाउन के दौरान शहर भर में बंद किए गए तमाम ट्रैफिक सिग्नल फिर एक बार शुरू कर दिए गए हैं. जिला प्रशासन द्वारा लॉक डाउन में रियायत देने के बाद सड़कों पर लोगों की आवाजाही बढ़ गई है. पुलिस के ट्रैफिक विभाग ने शहर के मुख्य चौक चौराहों में ट्रैफिक सिग्नल फिर एक बार शुरू करने का फैसला लिया है.

रायपुर के जय स्तंभ चौक, शारदा चौक, शास्त्री चौक और फाफाडीह जैसे मुख्य इलाकों में गुरुवार को ट्रैफिक सिग्नल चालू किए गए हैं. ट्रैफिक सिग्नल पर लॉकडाउन के दौरान भी पुलिस जवानों की तैनाती थी. हालांकि फिलहाल लॉकडाउन 3 मई तक लागू है. ऐसे में बेवजह घर से निकलने वालों को पुलिस वापस भेज रही है. लॉकडाउन के नियमों का उलंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी की जा रही है. जिला प्रशासन द्वारा अनाज,कृषि से जुड़े उपकरण, खाद-बीज,गैस-सिलेंडल और पेट्रोल पंप खोलने की टाइमिंग को बढ़ाकर सुबह 9 बजे से 4 बजे तक किया गया है। साथ ही सीमेंट, सरिया, प्लंम्बिंग, मिठाई, ऑटोमोबाइल पार्ट्स और ऑप्टिकल की दुकानें सुबह 11 से 2 बजे तक खुल रही हैं.

छत्तीसगढ़ में अब तक कोरोना वायरस के संक्रमण कोविड-19 के 36 संक्रमित मरीज मिले है. इसमें से 28 ठीक हो चुके हैं. कुल 36 में से 28 मरीज कोरबा जिले, रायपुर से 5 और दुर्ग, राजनांदगांव व बिलासपुर से एक-एक मरीज मिले. प्रदेश में कोरोना संक्रमण के अब तक कुल 9 हजार 220 संदिग्धों की जांच की गई है. इनमें से 8 हजार 296 संदिग्धों का परिणाम नेगेटिव रहा. कुल 36 संदिग्ध पॉजिटिव पाए गए और 888 संदिग्धों की जांच रिपोर्ट आनी शेष है. अब 35 हजार 666 व्यक्ति होम क्वारेंटीन में हैं. पहले करीब 80 हजार को होम क्वारंटाइन किया गया था. इसमें विदेश से आए करीब 23 सौ, तब्लीगी जमात के 108, अन्य प्रभावित राज्यों से आए करीब 55 हजार लोग शामिल थे.

Next Post

घर जाने को 250 KM पैदल चले, रास्ता नहीं मिला तो जोखिम उठा नदी में कूद गए मजदूर

सुकमा कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कई साइड भी इफेक्ट सामने आ रहे हैं. अपने घर के लिए 250 किमी पैदल चलकर छत्तीसगढ़ के सुकमा पहुंचे 6 मजदूरों का सब्र उस वक्त टूट गया जब कोंटा स्थित नदी घाट पर […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।