महिलाओं ने एकजुट होकर मनाई आंवला नवमीं

News Desk

रायपुर
कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की नवमीं तिथि सोमवार को महिलाओं ने एकजुट होकर आंवला पेड़ की पूजा करके विधिवत परिक्रमा की और आंवला नवमीं की कथा भी सुनी। जैतू साव मठ में विधिवत रूप से आंवला नवमीं मनाई गई।

नारायण लक्ष्मी को आंवला पेड़ तले चांदी के सिंहासन पर विराजित कर महिलाओं ने पूजा-अर्चना करने के बाद पेड़ की परिक्रमा की और कथा सुनने के बाद प्रसाद ग्रहण किया। इस दिन स्नान, पूजन, तर्पण तथा अन्न आदि के दान से अक्षय फल की प्राप्ति होती है। महिलाएं आंवला के पेड़ के नीचे बैठकर संतान की प्राप्ति व उसकी रक्षा के लिए पूजा करती हैं। मान्यता है कि कार्तिक शुक्ल नवमी से पूर्णिमा तक भगवान विष्णु आंवले के पेड़ पर निवास करते हैं इसलिए इस दिन आंवले के पेड़ की पूजा की जाती है। अन्य दिनों की तुलना में नवमी पर किया गया दान-पुण्य कई गुना अधिक लाभ दिलाता है।

Next Post

पति के सपनों को करेंगी पूरा..कश्‍मीर में शहीद मेजर कौस्‍तुभ की पत्‍नी कनिका बनीं आर्मी ऑफिसर..

नई दिल्ली   चेन्‍नई स्थित ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी (ओटीए) की इस साल की पासिंग आउट परेड शनिवार को हुई। यहां ऑफिसर्स की भीड़ में लेफ्टिनेंट कनिका राणे भी शामिल थीं लेकिन वह भीड़ से अलग नजर आ रही थीं। दरअसल कनिका साल 2018 के अगस्त की शुरुआत में नियंत्रण रेखा […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।