बुजुर्ग के आंखों की रोशनी लौटी चमकी जंगली फैमिली हेल्प फाउंडेशन की आंखे

News Desk

कोरबा
दूसरों को सकून पहुंचकार कितना सकून मिलता है यह समाजसेवी संस्थाएं ही बेहतर तरीके से इसका आनंद ले सकती हैं। समाज के पीड़ितों की सेवा करना ही उनका एकमात्र ध्येय होता है ऐसी ही शहर की एक समाज सेवी संस्था है जंगली फैमिली हेल्प फाउंडेशन। इस फांउडेशन ने कोरोना संक्रमण काल से ही लाखों की लोगों की मदद के लिये जहां अपना समय दिया और प्रतिदिन भूखों की भूख मिटाई। आज भी इस संक्रमण काल मे यह फांडेशन लोगों की सहायता के लिये आगे बढ़कर कार्य कर रहा है।

सेवा भावना की इसी कड़ी में फांउंडेशन ने ए ईसीएल के कुष्ठ आश्रम के 56 वर्षीय चमार सिंह की आंखो का आॅपरेशन करा उसकी रौशनी को वापस लौटाया। चमार सिंह को आंखों की रोशनी कम होने लगी थी जिससे उन्हें दिखाई नहीं दे रहा था। इसके चलते उसे अपने रोजमर्रा की जिंदगी में काफी तकलीफों का सामना करना पड़ रहा था। चमार सिंह के बारे में जैसे ही जंगली फैमिली हेल्प फाउंडेशन के सदस्यों को पता चला तो उन्होंने तत्काल चमार सिंह की मदद के लिए हाथ बढ़ाएं और चमार सिंह की आंखों का सफल आॅपरेशन भी कराया। आॅपरेशन सफल रहा और उनकी आंखों की रोशनी वापस लौट आई। इस आपरेशन में विशेष रूप से दानी नेत्र चिकित्सालय के चिकित्सक डॉ रामकिशोर, युवा संस्था से मनीष, एडवोकेट संजय शाह, फिरोज अहमद सहित जंगली फैमिली के सभी सदस्यों और दानदाताओ का विशेष सहयोग रहा।

Next Post

कोरोना महामारी को लेकर WHO ने किया 11 सदस्यीय पैनल का गठन, भारत की पूर्व स्वास्थ्य सचिव प्रीति सूदन भी शामिल

 नई दिल्ली  गुरुवार को महामारी की तैयारियों और प्रतिक्रिया के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन के स्वतंत्र पैनल ने पूर्व स्वास्थ्य सचिव प्रीति सूदन को दुनिया भर के 11 पैनलिस्टों में से एक के रूप में नियुक्त किया। पैनल के दो प्रमुखों, न्यूजीलैंड के पूर्व प्रधानमंत्री हेलेन क्लार्क और लाइबेरिया के […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।