प्रदेश के दिव्यांग बच्चे करेंगे आॅनलाईन पढ़ाई

News Desk

रायपुर
छत्तीसगढ़ के राज्य आयुक्त दिव्यांगजन प्रसन्ना आर ने दिव्यांग कल्याण की सभी शासकीय एवं अशासकीय संस्थाओं के अधीक्षकों को पत्र लिखकर विद्यार्थियों को आॅनलाईन पढ़ाई कराने के निर्देश दिए हैं। दिव्यांग बच्चों के अध्ययन कार्य में किसी प्रकार की कोई बाधा उत्पन्न न हो तथा अध्ययन कार्य सुचारू रूप से चल सके इसके लिए संस्था प्रमुखों को शिक्षकों की ड्यूटी लगाने के निर्देश दिए गए हैं।

राज्य में नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए दिव्यांग कल्याण की सभी शासकीय एवं अशासकीय संस्थाओं में अध्ययनरत विद्यार्थी वर्तमान में अपने घर में है और संस्थाओं में अध्ययन-अध्यापन कार्य स्थगित है। ऐसी परिस्थिति में विद्यार्थियों के  अध्यापन-पठन कार्य का नुकसान न हो, इसके लिए संस्था के शिक्षकों द्वारा कक्षानुसार वाट्सएप, सामान्य कॉल, वीडियो चैटिंग के माध्यम से विद्यार्थियों के मार्गदर्शन के लिए कहा गया है। जिससे घर पर ही बच्चों के अध्ययन और पठन कार्य में सहयोग हो सके।

Next Post

बॉलीवुड के जम्पिंग जैक जितेन्द्र, श्रीदेवी से जया प्रदा तक रहे रोमांस के चर्चे

  नई दिल्ली  बॉलावुड फिल्म इंडस्ट्री में 70 का दशक गोल्डन एरा माना जाता है. इसकी सबसे बड़ी वजह ये है कि इस एरा में एक से बढ़कर एक कलाकार हुए जिन्होंने दर्शकों का मनोरंजन किया और अपना एक मुकाम बनाया. इस फहरिश्त में एक नाम जितेंद्र का भी है. […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।