नवलपुर गेट पर तैनात रेलवे कर्मचारी की हत्या

News Desk

कोरबा
रविवार की रात में नलवलपुर रेलवे गेट पर तैनात रेलवे गेटमेन की अज्ञात हमलावरों ने हत्या कर दी। हत्यरों ने मृतक रेलवे गेट कर्मी को कमरे के अंदर से बाहर घसीट कर बाहर निकाला और हत्या कर फरार हो गए। इस हत्याकांड की सूचना उरगा पुलिस को मृतक के ही सहयोगी ने पुलिस का दी। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने मामले को जांच में ले लिया।

हत्याकांड के बारे में पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार मृतक 30 वर्षीय हरीश पटेल बिहार का रहने वाला था और उसे रेलवे में गेटकीपर के रूप में नौकरी मिली हुई थी नवलपुर गेट पर उसककों तैनात किया कया था। पुलिस ने बताया कि घटनास्थल को देखने के बाद हत्यारों का पहले रीश के साथ वा विाद हुआ होगा और बाद में उन्होंने हरीश को कमरे के अंदर से घसीटते हुए बाहर निकाल और और फिर वहां रखे फावड़े से उस पर हमला किया जिससे उसकी मौत हो गई। हरीश की हत्या के बाद हत्यरों ने उसके मोबाईल तथा हत्या में प्रयुक्त फावड़े को पास के ही खेतों में फेंक दिया। हरीश के हत्या होने की खबर पुलिस को रेलवे के ही कर्मचारी वाल्मीकी ने पुलिस को दी। पुलिस को दी गई सूचना में उसने बताया कि रहरीश की हत्या किए जाने की सूचना रेलवे के ही एक अफसर ने फोन पर दी जिसके बाद ओरागा थाने की वाल्मिकी ने अवगत कराया। हरीश की हत्या किन कारणों से की गई इै इसके बारे में पुलिस ने अभी तक स्पष्ट रूप से कुछ नहीं बताया है। इस हत्याकांड में ओरगा पुलिस ने कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

Next Post

लद्दाख के डेमचॉक से भारतीय सेना ने पकड़ा चीनी सैनिक, सैनिक को लौटाने से बढ़ेगा विश्वास

पेइचिंग भारत ने लद्दाख के डेमचॉक इलाके से एक चीनी सैनिक को पकड़ा है। यह सैनिक चीन की सेना पीपुल्स लिबरेशन आर्मी में कॉरपोरल के पद पर तैनात है। इसके बाद से ही बार-बाद जंग की धमकी देने वाली चीनी मीडिया ग्लोबल टाइम्स के सुर नरम पड़ गए हैं। चीन […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।