भारत में हुई एलन मस्क की कंपनी Tesla की एंट्री…यहां बनेंगी इलेक्ट्रिक कारें…

News Desk

नई दिल्ली
कारोबारी एलन मस्क की इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी ‘टेस्ला’ की भारत में एंट्री हो गई है। उसने टेस्ला इंडिया मोटर्स ऐंड एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड (Tesla India Motors and Energy Pvt Ltd with RoC Bangalore) नाम से रजिस्ट्रेशन कराया है। कंपनी यहां लग्जरी इलेक्ट्रिक कारों का निर्माण और कारोबार करेगी। टेस्ला ने पहला ऑफिस बेंगलुरु में पंजीकृत किया गया है। वह बेंगलुरु में एक रिसर्च एंड डेवलपमेंट यूनिट के साथ अपना परिचालन शुरू करेगी।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने टेस्ला का स्वागत किया है। कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय के अनुसार, टेस्ला 8 जनवरी को बेंगलुरु में पंजीकृत हुई है। इसका रजिस्ट्रेशन नंबर 142975 है। वैभव तनेजा, वेंकटरंगम श्रीराम और डेविड जॉन फेंस्टीन इसके निदेशक हैं। तनेजा टेस्ला में CFO हैं, जबकि फेंस्टीन टेस्ला में ग्लोबल सीनियर डायरेक्टर, ट्रेड मार्केट एक्सेस हैं। कंपनी भारत में मॉडल 3 को लॉन्च कर सकती है। साल की पहली तिमाही के अंत में डिलीवरी शुरू हो सकती है।

मस्क ने ट्विटर पर किया था ऐलान
टेस्ला के सीईओ एलन मस्क ने पिछले वर्ष अक्टूबर में एक ट्वीट में कहा था कि उनकी कंपनी 2021 में भारतीय बाजार में प्रवेश करेगी। मस्क ने एक ट्वीट के जवाब में कहा था कि निश्चित रूप से उनकी कंपनी अगले साल भारत में दस्तक देगी।

Next Post

 सभी सेंटर तक कल पहुंच जाएंगे टीके!

नई दिल्ली 16 जनवरी से शुरू होने वाले टीकाकरण अभियान से पहले देशभर के 13 शहरों के कई वैक्सीन स्टोरों पर लगभग 54.72 लाख वैक्सीन की खुराक प्राप्त हुई। टीकों को शहरों तक पहुंचाने की प्रक्रिया आज और कल चलेगी। देश में एक तरफ कोरोना संक्रमण की रफ्तार धीरे-धीरे कम […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।