7th Pay Commission: केंद्रीय सरकार के इन कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, जल्द सैलरी में होगा इजाफा….

News Desk

नई दिल्ली
लाखों केंद्रीय कर्मचारी (Ccentral government employees) और पेंशनर्स (Pensioners) अपने महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी के ऐलान का इंतजार कर रहे हैं, जिससे उनकी सैलरी बढ़ सकेगी. कुछ हफ्ते ये पहले ये ऐलान हुआ था कि केंद्र सरकार अपने कर्मचारियों के महंगाई भत्ते (DA) में बढ़ोतरी की योजना बना रही है, जिसका ऐलान होली के पहले कर दिया जाएगा

केंद्रीय कर्मचारियों की महंगाई भत्ते की तीन किस्तें और पेंशनर्स के DR का इंतजार लंबा होता जा रहा है. कर्मचारियों के 1 जनवरी, 2020, 1 जुलाई 2020 और 1 जनवरी 2021 का DA और DR कोरोना महामारी  के चलते रोक दिया गया था. अगर मोदी सरकार DA यानी महंगाई भत्ते को 4 परसेंट बढ़ाने का फैसला लेती है तो केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 28 परसेंट हो जाएगा. फिलहाल उन्हें 17 परसेंट DA मिलता है.

केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता अगर 4 परसेंट बढ़ता है तो उनकी सैलरी में अच्छा इजाफा हो जाएगा. सूत्रों का कहना है कि DA में बढ़ोतरी जनवरी से जून 2021 के बीच होगी, इसका मतलब हुआ कि केंद्रीय कर्मचारियों को एरियर की मोटी रकम भी आएगी.

केंद्रीय राज्य वित्त मंत्री अनुराग ठाकुर ने कुछ दिनों पहले यह बयान दिया था कि सरकार जुलाई महीने में सरकारी कर्मचारियों की महंगाई भत्ते की बकाया किस्तें जारी कर सकती है. उन्होंने कहा था कि सरकार 1 जुलाई, 2021 को जारी की जाने वाली महंगाई भत्ते की किस्त के साथ बीते साल की दो बकाया किस्तें भी जारी कर दी जाएगी. सरकार के इस कदम से सरकारी कर्मचारियों को बड़ी राहत मिलेगी. राज्य वित्त मंत्री ने यह भी घोषणा की थी कि यह तीनों किस्तें सातवें वेतन आयोग के तहत नई दरों पर जारी की जाएगी.

Next Post

पंजाब में 30 अप्रैल तक लगा नाइट कर्फ्यू

 चंडीगढ़  पंजाब सरकार ने राज्य में 30 अप्रैल तक के लिए नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया है। यह कर्फ्यू प्रदेश के सभी जिलों में लागू होगा। नाइट कर्फ्यू रात को 9 बजे से शुरू होगा और सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा। इससे पहले नाइट कर्फ्यू प्रदेश के 12 […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।