FICCI ने बताई थी 4.5 लाख करोड़ की जरूरत, पैकेज का किया स्वागत

News Desk

नई दिल्ली

कोरोना संकट काल में अर्थव्यवस्था काफी मुश्किल स्थिति में आ गई है. इसे संकट से उबारने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को बीस लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया. कई कारोबारी और आर्थिक जगत की संस्थाओं की ओर से इसकी अपील की जा रही थी. इंडस्ट्री चैंबर फिक्की की ओर से भी अर्थव्यवस्था में जान फूंकने के लिए तत्काल रूप से 5 लाख करोड़ रुपये की मांग की गई थी, लेकिन पीएम ने कुल 20 लाख करोड़ का ऐलान किया जिससे फिक्की गदगद है.

फिक्की की अध्यक्ष डॉ. संगीता रेड्डी ने आर्थिक पैकेज के ऐलान पर कहा कि हम इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का शुक्रिया करते हैं. भारत के लिए ये वक्त है कि जब बड़ा सोचा जाए, ये पैकेज भारत के बड़े सपनों को ताकत देता है. सरकार की ओर से ये काफी शानदार कदम उठाया गया है.

उन्होंने अपने बयान में कहा कि हमें उम्मीद है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा इस पैकेज का इस्तेमाल गरीब, मजदूरों के साथ-साथ छोटे कारोबारियों, उद्योगपतियों के लिए भी किया जाएगा. आत्मनिर्भर भारत को लेकर संगीता रेड्डी बोलीं कि लैंड, लेबर और लिक्वीडिटी में बदलाव ही काफी महत्वपूर्ण है.

Next Post

हम सब भारत माँ के लाल, भेदभाव का कहाँ सवाल- शिवराज सिंह चौहान

 भोपाल कोरोना के विश्‍वव्‍यापी कहर ने भारत में दस्‍तक दी ही थी कि हमारे युगदृष्‍टा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने इसके संकट को पहचान कर पूरे देश में लॉकडाउन कर दिया। इससे कोरोना का फैलाव रुका, लोगों में जागरूकता आई और स्‍वास्‍थ्‍य सुवि‍धाओं में सुधार के लिए समय मिल गया। […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।