FASTag की मदद से 20000 करोड़ रुपए के तेल की बचत

News Desk

नई दिल्ली
केंद्र सरकार ने देशभर के टोल प्लाजा पर फास्टैग को अनिवार्य कर दिया है। टोल टैक्स का भुगतान अब फास्टैग की मदद से ही किया जा सकेगा। अगर आपने अब तक अपनी गाड़ी पर फास्टैग नहीं लगवाया है तो आपसे दोगुना टोल टैक्स वसूला जाएगा। इस संबंध में केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने जानकारी देते हुए कहा कि फास्टैग की मदद से सालाना 20000 करोड़ रुपए के फ्यूज की बचत करने में मदद मिलगी। उन्होंने कहा कि सरकार की कोशिश है कि टोल प्लाजा पर वेटिंग टाइम को और कम किया जा सके, ताकि फास्टैग लगी गाड़ियों से न केवल आसानी से टोल टैक्स वसूला जा सके, बल्कि टोल प्लाजा पर लगने वाले जाम से निजात मिल सके।

 जितनी दूरी उतना ही देना होगा टोल टैक्स नितिन गडकरी ने कहा कि सरकार नए टोल टैक्स सिस्टम पर काम कर रही है। इस नए टोल टैक्स सिस्टम की मदद से हाईवे पर छोटी दूरी तय करने वालों को राहत मिलेगी। लोग नेशनल हाईवे पर जितनी दूरी तय करेंगे उन्हें उतना ही टोल टैक्स देना होगा। नए टोलिंग सिस्टम के लिए जीपीएस बेस्ड तकनीक पर काम किया जा रहा है। माना जा रहा है कि अगले दो सालों में इस नए टोल टैक्स सिस्टम को जारी कर दिया जाएगा। 20000 करोड़ के फ्यूल की बचत नए टोलिंग सिस्टम की मदद से एंट्री और एक्जिट प्वाइंट्स क आधार पर लोगों को टोल टैक्स का भुगतान करना होगा।

 इसके अलावा फास्टैग को लेकर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हाईवे पर अनिवार्य फास्टैग की मदद से सालाना 20000 करोड़ रुपए के तेल की बचत की जा सकेगी। वहीं इससे 10000 करोड़ रुपए के रेवेन्यू को बूस्ट करने में मदद मिलेगी। आपको बता दें कि 16 फरवरी से टोल प्लाजा पर फास्टैग के जरिए टोल टैक्स वसूला जा रहा है। फास्‍टैग के जरिए रोजाना टोल कलेक्शन करीब 104 करोड़ रुपए तक पहुंच चुका है। 

Next Post

बिहार में आज से चलेंगी इलेक्ट्रिक बसें, सीएम नीतीश दिखाएंगे हरी झंडी

पटना  बिहार में मंगलवार से इलेक्ट्रिक बसों का परिचालन शुरू हो जाएगा। पहले चरण में 12 इलेक्ट्रिक बसों का परिचालन शुरू होगा। इन इलेक्ट्रिक बसों के अलावा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कुल 82 बसों को संवाद भवन से हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। मौके पर उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद व रेणु देवी, […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।