सेंसेक्स में मामूली गिरावट के साथ हुआ बंद

News Desk

मुंबई
 वैश्विक बाजारों के मिलेजुले रुख के बीच निवेशकों की मुनाफावसूली से बुधवार को सेंसेक्स रिकॉर्ड स्तर को छूने के बाद फिसल गया और 25 अंक के नुकसान के साथ बंद हुआ। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स दिन में कारोबार के दौरान 721 अंक ऊपर नीचे हुआ। अंत में यह 24.79 अंक या 0.05 प्रतिशत के नुकसान से 49,492.32 अंक पर बंद हुआ। दिन में कारोबार के दौरान सेंसेक्स ने 49,795.19 अंक का अपना सर्वकालिक उच्चस्तर भी छुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 1.40 अंक या 0.01 प्रतिशत के लाभ से 14,564.85 अंक के अपने नए रिकॉर्ड पर बंद हुआ। दिन में कारोबार के दौरान इसने 14,653.35 अंक का सर्वकालिक उच्चस्तर भी छुआ। सेंसेक्स की कंपनियों में महिंद्रा एंड महिंद्रा का शेयर सबसे अधिक करीब छह प्रतिशत चढ़ गया। एसबीआई, आईटीसी, एनटीपीसी, भारती एयरटेल और ओएनजीसी के शेयर भी लाभ में रहे। वहीं दूसरी ओर बजाज फाइनेंस, एचडीएफसी, बजाज फिनसर्व, टाइटन, सन फार्मा और डॉ. रेड्डीज के शेयरों में गिरावट आई। रिलायंस सिक्योरिटीज के प्रमुख-रणनीति विनोद मोदी ने कहा कि घरेलू शेयर बाजारों में उतार-चढ़ाव रहा और इसने अपना शुरुआती लाभ गंवा दिया। बड़ी संख्या में शेयरों में मुनाफावसूली का सिलसिला चला। उन्होंने कहा, ‘‘हमारा मानना है कि दिसंबर, 2020 के उच्च चक्रीय महत्वपूर्ण आर्थिक आंकड़ों में सुधार बाजार मांग बढ़ने का संकेत है। यह बाजार की दृष्टि से अच्छा है।’’ अन्य एशियाई बाजारों में चीन के शंघाई कम्पोजिट तथा हांगकांग के हैंगसेंग में गिरावट आई। वहीं दक्षिण कोरिया के कॉस्पी और जापान के निक्की में लाभ रहा। शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार लाभ में थे। इस बीच, वैश्विक बाजार में ब्रेंट कच्चा तेल 0.28 प्रतिशत की बढ़त के साथ 56.74 प्रति डॉलर पर पहुंच गया।

Next Post

प्रवेश नहीं करा पाएंगे सूबे के 300 कॉलेज, स्कॉलरशिप की राशि लेने में विद्यार्थियों को होगी परेशानी

भोपाल प्रवेश एवं फीस विनियामक समिति सूबे के 300 प्रोफेशनल कॉलेजों की आगामी तीन सत्रों की फीस निर्धारित करने जा रहा है। आगामी सत्र 2022-23, 2023-24 और 2024-25 की फीस निर्धारित करने के लिए कमेटी ने तीस अप्रैल तक जमा कराएगा। कॉलेज अपनी फीस फिक्स कराने फीस कमेटी नहीं पहुंचते […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।