कर्नाटक बैंक लाभ 10 प्रतिशत बढ़कर 135 करोड़ रुपये रहा

News Desk

नयी दिल्ली
निजी क्षेत्र के कर्नाटक बैंक का शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में 10 प्रतिशत बढ़कर 135.38 करोड़ रुपये रहा। फंसे कर्ज में कमी से बैंक का लाभ बढ़ा है। मैंगलोर के इस बैंक ने मंगलवार को शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि एक साल पहले 2019-20 की इसी तिमाही में बैंक को 123.14 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। हालांकि बैंक की कुल आय चालू वित्त वर्ष की दिसंबर तिमाही में घटकर 1,868.62 करोड़ रुपये रही जो एक साल पहले 2019-20 की इसी तिमाही में 1,993.68 करोड़ रुपये थी। बैंक का सकल एनपीए (गैर-निष्पादित परिसंपत्ति) आलोच्य तिमाही में घटकर 3.16 प्रतिशत रही जो एक साल पहले 2019-20 की तीसरी तिमाही में 4.99 प्रतिशत थी। इसी प्रकार, शुद्ध एनपीए घटकर 1.74 प्रतिशत पर आ गयी जो एक साल पहले अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में 3.75 प्रतिशत थी। इससे बैंक का फंसे कर्ज और अन्य आपात स्थिति के लिये प्रावधान कम होकर आलोच्य तिमाही में 214.18 करोड़ रुपये पर आ गया जो पिछले वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में 314.70 करोड़ रुपये था।

Next Post

भारत में एलन मस्क की टेस्ला ने दी दस्तक 

 नई दिल्ली   दिग्गज कारोबारी एलन मस्क भारत के ऑटोमोबाइल मार्केट में अपना कदम रखने जा रहे हैं और इसके लिए उनकी इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी ने भारत के बेंगलुरु में आधिकारिक तौर पर रजिस्ट्रेशन भी करा लिया है। अमेरिका की इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली एलन मस्क की मशहूर […]

कोरोना वाइरस के बारे में

भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम COVID 19 - कोरोना वायरस की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सही जानकारी के साथ नागरिकों को सशक्त बनाना और सावधानी बरतना है।